ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडसाढ़े 6 करोड़ की लागत से चकाचक होगी सुदूरवर्ती क्षेत्र की सड़कें

साढ़े 6 करोड़ की लागत से चकाचक होगी सुदूरवर्ती क्षेत्र की सड़कें

बगोदर। बगोदर और सरिया प्रखंड के सुदूरवर्ती इलाके की सड़कें बहुत जल्द चकाचक हो...

साढ़े 6 करोड़ की लागत से चकाचक होगी सुदूरवर्ती क्षेत्र की सड़कें
हिन्दुस्तान टीम,गिरडीहWed, 29 Nov 2023 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

बगोदर। बगोदर और सरिया प्रखंड के सुदूरवर्ती इलाके की सड़कें बहुत जल्द चकाचक हो गई। बगोदर विधायक के प्रयास से मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सरिया के सुदूरवर्ती क्षेत्र घुठियापेसरा से बगोदर के सुदूरवर्ती क्षेत्र कुदर के बिंद- कुदर भाया मेघाटांड़ की सड़कों के निर्माण कार्य की स्वीकृति हुई है। विधायक विनोद कुमार सिंह के द्वारा मंगलवार को निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया। बगोदर के बिंद एवं सरिया के घुठियापैसरा नर्सिंग होम के पास सड़कों का शिलान्यास किया गया।
उन्होंने बताया कि 8. 2 किमी लंबी सड़क का निर्माण साढ़े 6 करोड़ की लागत से होगी। उक्त सड़क के बनने से बगोदर प्रखंड क्षेत्र के धरगुल्ली और कुदर के ग्रामीणों को जहां सरिया जाने में सुविधा होगी वहीं सरिया प्रखंड के घुठियापैसरा इलाके के लोगों को जीटी रोड पकड़कर गोरहर- बरकठ्ठा जाने में सुविधा होगी। बताया कि उक्त सड़क के बनने से घुठियापैसरा, गरमुंडों, बिंद, कुदर, मेघाटांड, पगरवा आदि गांव आपस में जुड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि आनेवाले दिनों में भी इलाके में विकास के और भी कार्य किए जाएंगे। मौके पर उप प्रमुख हरेंद्र सिंह, भाकपा माले के बगोदर सचिव पवन महतो, सरिया सचिव भोला मंडल, पूर्व जिप सदस्य पूनम महतो, भाकपा माले के वरीय नेता प्रमेश्वर महतो, संदीप जायसवाल, पूरन कुमार महतो, संतोष रजक, शेख बदरूदीन, अजय चंद्रवंशी, मेहताब अंसारी आदि मुख्य रुप से उपस्थित थे।

देश की आजादी की तरह रोड बनने की स्वीकृति से महसूस हो रही खुशियां

बगोदर के सुदूरवर्ती क्षेत्र कुदर पंचायत के बिंद- कुदर- घुठियापेसरा भाया मेघाटांड़ की सड़कें पहली बार बनने जा रही है। इससे ग्रामीणों में उत्साह का माहौल था। रोड बनने की खुशी में ग्रामीण ढ़ोल और मांदर की थाप पर थिरकते नजर आए। मौके पर आयोजित शिलान्यास समारोह में बिंद निवासी मेहताब अंसारी ने कहा कि अंग्रेजों के चंगुल से जब देश आजाद हुआ था और उस समय जो खुशियां हमारे पूर्वजों को मिली होगी सड़क निर्माण की स्वीकृति होने से वहीं खुशियां आज ग्रामीणों को मिल रही है। चूंकि सड़क के अभाव में खासकर बारिश के दिनों में ग्रामीणों को आवागमन करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें