DA Image
10 जुलाई, 2020|7:19|IST

अगली स्टोरी

लोक अदालत में 15 मामले निपटे, 27 हजार 50 रुपए राजस्व की वसूली

झालसा रांची के निर्देश पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वाधान में शनिवार को व्यवहार न्यायालय में मासिक लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत का शुभारंभ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह प्राधिकार के अध्यक्ष शिवनारायण सिंह, कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश सुरेश चंद्र जायसवाल, जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम प्रदीप कुमार चौबे एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश पंचम सुनील कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। प्राधिकार के सचिव बिपिन बिहारी गौतम ने बताया कि लोक अदालत को सफल बनाने के लिए पांच पीठों का गठन किया गया था। प्रधान न्यायाधीश सुरेश चंद्र जायसवाल के पीठ संख्या एक से पारिवारिक वाद के तीन मामले निष्पादित किया गया। सीजेएम योगेश कुमार के पीठ संख्या तीन से आपराधिक व वन वाद के दस मामलों का निष्पादन हुआ जिसमें 18050 रूपए राजस्व वसूली की गई। शंकर कुमार महाराज की पीठ संख्या चार से उत्पाद वाद के दो मामलों का निष्पादन हुआ जिसमें 9 हजार रूपए की राजस्व वसूली की गयी। मौके पर प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवनारायण सिंह ने कहा कि लोक अदालत के माध्यम से मामलों का निष्पादन होने से पक्षकारों को समय व धन की बचत होती है तथा मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है। कहा कि नालसा नई दिल्ली व झालसा रांची के निर्देशनुसार एक सितंबर से सात सितंबर तक मध्यस्थता केंद्र में एनआई एक्ट के तहत मामलों को निष्पादित करने के लिए विशेष अभियान चलेगा और इसमें चेक बाउंस के मामलों का निष्पादन मध्यस्थता के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने पक्षकारों, अधिवक्ताओं व आम जनों से अपील किया कि वे इस विशेष अभियान का लाभ उठाकर अपने मामलों का निष्पादन कराएं और झालसा के इस अभियान को सफल बनाने में अपना सहयोग दें।