DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली की मनमानी से उपभोक्ताओं में रोष

इस उमस भरी गर्मी में बिजली नहीं रहने से जमुआ के उपभोक्ताओं के साथ-साथ देवरी, तिसरी, गांवा, राजधनवार व बिरनी के उपभोक्ताओं को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पांच दिनों पूर्व आई आंधी-बारिश से बिजली के कई खंभे उखड़ गए थे और जमुआ विद्युत आपूर्ति प्रमंडल के छह प्रखंडों में ब्लैक आउट की स्थिति उत्पन्न हो गई थी।

विभाग के कर्मियों द्वारा युद्ध स्तर पर काम कर मंगलवार शाम को विद्युत आपूर्ति बहाल की गई लेकिन पुन: मंगलवार रात भर बिजली रहने के बाद बुधवार से बिजली गायब हो गई। इस बार बगैर आंधी-बारिश के भोरंडीहा से जमुआ आए 33 केवीए लाइन में अचानक खराबी आ गई और पुन: ब्लैक आउट की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

बिजली नहीं रहने से जनजीवन अस्त-व्यस्त : लगातार कई दिनों से बिजली नहीं रहने से क्षेत्र के पांच लाख से अधिक की आबादी प्रभावित है । लोग अंधेरे में रहने को विवश है। सबसे अधिक परेशानी बैंक व व्यवसयियों को हो रही है।

इतने दिनों से बिजली गायब रहने से बैट्री व इनवर्टर भी धोखा दे चुका हैं। लोग अपना मोबाईल भी चार्ज नहीं कर पा रहे है। विभाग के प्रति लोगों में काफी आक्रोश है।

क्या कहते हैं ग्रामीण : ग्रामीण पिंकू कुमार निगम, बनारस वर्मा, दीनदयाल प्रसाद वर्मा, ब्रह्मदेव कुमार वर्मा, पवन सिंह, मंटु देव आदि लोगों ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं से विभाग महीने की तय राशि बिल के रूप में वसूली करती है और कई दिनों तक लगातार बिजली नहीं रहने से उपभोक्ता पैसे देकर भी बिजली का उपयोग नहीं कर पाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Fury in consumers with arbitrary power