DA Image
15 जनवरी, 2021|3:30|IST

अगली स्टोरी

बाबूलाल के दल-बदल का मामला समाप्त होना चाहिए: रवींद्र राय

default image

बाबूलाल के दल-बदल का मामला समाप्त होना चाहिए: रवींद्र राय

गिरिडीह प्रतिनिधि

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सांसद प्रो. रवीन्द्र कुमार राय ने कहा कि सत्ता पक्ष से प्रेरित होकर बाबूलाल मरांडी पर दल बदल की शिकायत पूर्व विधायक ने विधानसभा अध्यक्ष से की थी। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद बाबूलाल मरांडी के दल-बदल मामले को अब समाप्त किया जाना चाहिए। उक्त बातें उन्होंने गुरुवार का प्रेस बयान जारी कर कही।

उन्होंने कहा कि झाविमो के भाजपा में विलय के मामले में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा स्वतः संज्ञान लेने को हाई कोर्ट ने अवैध बताया था। सच्चाई भी है कि सदन के अंदर या अध्यक्ष की नजर के सामने जब कोई व्यक्ति या कोई सदस्य दल के निर्णय के विरुद्ध कार्य करता है तब अध्यक्ष को स्वतः संज्ञान लेने का अधिकार है। कहा कि दल-बदल विरोध कानून में स्पष्ट है कि सदन के बाहर की घटना पर विधानसभा अध्य्क्ष को स्वतः संज्ञान लेने का स्थान नहीं है। कहा कि झाविमो का विलय भाजपा में 17 फरवरी 2020 को हुआ था। छह माह तक इसकी कोई शिकायत नहीं हुई। 10 महीने बाद इस मामले की शिकायत करना यह दर्शाता है कि यह मामला प्रायोजित है। कहा कि विस अध्यक्ष को न्याय के समक्ष नतमस्तक होना चाहिए एवं पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर इस तरह के मामले न उठाकर संवैधानिक रास्ते को साफ करना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Babulal 39 s case of defection should end Ravindra Rai