DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1172 झोपड़ियों में रहने वालों को मिलेगा मकान

झुग्गी-झोपड़ी में रहकर बदहाल जीवन जी रहे शहरी गरीब परिवारों को नगर परिषद, पक्का मकान बनाकर देगी। इन परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना से पक्का मकान मिलेगा। फिलहाल 1306 गरीब परिवारों को पक्का मकान देने की स्वीकृति नगर परिषद ने केन्द्र से पा लिया है। अन्य गरीब परिवार, जो झुग्गी-झोपड़ी में अभी रह रहे हैं और वह पक्का मकान का सपना को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। वैसे परिवारों को इसका लाभ देने के लिए नप खोज रही है। यह जानकारी पत्रकारो को नप अध्यक्ष दिनेश प्रसाद यादव व उपाध्यक्ष राकेश कुमार ने संयुक्त रुप से दी। 1132 लाभुकों को पूर्व में मिल चुका है आवास: अध्यक्ष ने कहा कि आइएचएसडीपी योजना से 1132 लाभुकों को पक्का मकान का लाभ दिया गया है। अभी 1172 की संख्या में लाभुकों को प्रधानमंत्री आवास योजना से पक्का मकान दिया गया है। यह लाभुक पक्का मकान बनाने में लगे हैं। इसके अलावा और 1306 लाभुकों को पक्का मकान देने की स्वीकृति मिल चुकी है। अब यह सर्वे करना है कि शहर में और कितने झुग्गी-झोपड़ी और गरीब परिवार हैं, जो पक्का मकान नहीं बना सकते हैं। उन्हें इसका लाभ दिलाया जाएगा। पक्का मकान पाना है तो करें 05 तक आवेदन : शहर में करीब 20 हजार होल्डिंगधारी है। इसकी जानकारी देते हुए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने कहा कि इनमें आठ हजार 245 गरीब परिवार चिन्हित किया गया है। करीब साढ़े तीन से चार हजार लोगों को पक्का आवास दिया गया है यह प्रोसेस में है। कहा कि जो गरीब परिवार को पक्का मकान की जरुरत है, वह पांच जून तक नप में आवेदन करें। उन्हें इस योजना से जोड़ा जाएगा या मिलनेवाला है। आवास के लिए मिलता है साढ़े तीन लाख रुपए : अध्यक्ष ने कहा कि पक्का आवास के लिए साढ़े तीन लाख मिलता है। जिसमें दो लाख 25 हजार रुपए केन्द्र देती है और शेष राशि लाभुक को देना है या फिर लाभुक श्रमदान से इस राशि को बचा सकते हैं। कहा कि आठ माह में इस योजना को पूर्ण करना है। लाभुक को कब-कब मिलेगी राशि: लाभुक को पहली किस्त में 45 हजार रु., दूसरी किस्त में 67 हजार पांच सौ रु., तृतीय किस्त में 45 हजार र. और अंतिम व चौथा किस्त में 67 हजार पांच सौ रुपए आवास पूर्ण करने के लिए मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:1172 hut dwellers will get houses