DA Image
25 जनवरी, 2020|1:33|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिरिडीह में दो नाबालिग दोस्तों ने की छात्र की हत्या

default image

पचंबा थाना क्षेत्र के बनखंजो पहाड़ी के पास बुधवार सुबह मृत मिले छात्र रितेश चौधरी की हत्या उसके दो नाबालिग दोस्तों ने की थी।

इस मामले में पुलिस ने गुरुवार को दोनों हत्यारोपियों को अभिरक्षा में लिया है। दोनों की उम्र करीब 16 वर्ष है। एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने पुलिस लाइन में पत्रकारों को बताया कि लकड़ी के कुंदे से मारकर रितेश की हत्या की गई है। हत्या की वजह हत्यारोपी की प्रेमिका से नजदीकी है। इस हत्याकांड की जांच के लिए डीएसपी संतोष कुमार मिश्र के अगुवाई में एसआईटी का गठन किया गया था। रितेश के पिता विजय चौधरी की लिखित शिकायत पर हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू की गई थी। रितेश देवरी के नावाडीह गांव का रहनेवाला था। वह गिरिडीह में भाड़े के मकान में रहकर सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में दसवीं कक्षा में पढ़ता था।

बाइक से मिला सुराग, पूछताछ में उगला राज: एसआईटी ने सबसे पहले उस बाइक की पड़ताल शुरू की, जो घटनास्थल से कुछ दूरी पर मिली थी। तफ्तीश में बाइक गांडेय के सिजुआ निवासी मुंशी महतो की निकली। बाइक मालिक से पूछताछ की गई तो मुंशी महतो ने बताया कि बाइक उसका पुत्र सिहोडीह में रखता है। उसके पुत्र से पूछताछ के बाद सारा मामला सामने आ गया। आरोपी ने बताया कि 14 जनवरी को रितेश के अलावा बेंगाबाद के चितमाडीह का एक दोस्त व झरियागादी गांव से एक दोस्त आया था। सभी मिलकर उसके किराए के मकान में गांजा पिया और शाम 7 बजे बेंगाबाद का दोस्त व रितेश उसकी बाइक लेकर चले गए। उसने रितेश की खोज की परंतु कुछ पता नहीं चला।