DA Image
27 जनवरी, 2020|12:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांडेय में फिर गहराया जलसंकट, दो दिनों से जलापूर्ति बाधित

गांडेय में फिर गहराया जलसंकट, दो दिनों से जलापूर्ति बाधित

गांडेय में पानी टंकी से होनेवाली जलापूर्ति में बुधवार को तकनीकी खराबी आ जाने के कारण दो दिनों से पानी बंद है। जिससे गांडेय बाजार की लगभग दो हजार की आबादी प्रभावित है। उपभोक्ताओं को शीतलहरी में भी पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को जलापूर्ति पूरी तरह बंद रही। जबकि गुरुवार दिन में 10 -15 मिनट की जलापूर्ति की गई। बता दें कि गांडेय में आए दिन जलापूर्ति की समस्या से लोग परेशान हैं। दुर्गापूजा के समय से ही जलापूर्ति प्रभावित है। लगभग दो महीने तक जलापूर्ति प्रभावित रही। विधानसभा चुनाव के समय समाचार पत्रों में समाचार प्रकाशित होने के बाद तकनीकी खराबी को दूर किया गया था। लगभग 15 - 20 दिनों तक पेयजल की आपूर्ति सुचारु ढंग से हुई। लेकिन फिर एक बार पानी की समस्या क्षेत्र में हो गयी है। पानी टंकी का संचालन ग्रामीण जलापूर्ति समिति द्वारा किया जाता है। समिति के अध्यक्ष पंचायत के मुखिया होते हैं। जलापूर्ति के संबंध में गांडेय पंचायत के मुखिया पति भरतलाल शर्मा ने गुरुवार को बताया कि बिजली की समस्या उत्पन्न हुई थी। बिजली मिस्त्री को बुलाकर काम कराया जा रहा है। एक दो दिन में जलापूर्ति सुचारु ढंग से शुरू हो जाएगी। क्या कहते हैं उपभोक्ता इस संबंध में विनय पाठक ने कहा कि तकनीकी समस्या शीघ्र ही निजात होना चाहिए। कहा कि समिति के पास हमेशा एक मिस्त्री रहना चाहिए। ताकि तकनीकी समस्या का निदान शीघ्र हो सके। कहा कि एक माह के बाद गर्मी शुरू होगी। इस पर विशेष ध्यान देना चाहिए। अरुण पाठक ने कहा लगभग 10 वर्षों से पानी टंकी की सफाई नहीं की गई है। हमेशा टंकी में पानी जमा रहने से पानी प्रदूषित हो जाता है। तकनीकी समस्या के निदान के साथ टंकी की सफाई जरुरी है। वसीम अख्तर ने कहा कि गर्मी शुरू होने के पहले सभी तकनीकी समस्या को दूर कर लेना चाहिए।