DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुमला में लोस और विस चुनाव को लेकर गुमला प्रशासनिक कवायदें शुरू

गुमला में लोस और विस चुनाव को लेकर गुमला प्रशासनिक कवायदें शुरू

मतदाता सूची विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम 2018 को लेकर गुरूवार को डीसी शशि रंजन राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। बैठक में पुनरीक्षण पुनरीक्षण कार्यक्रम के अलावे विधानसभावार कुल बूथों की संख्या,मतदान केन्द्र भवन की स्थिति,विधानसभावार मतदान केन्द्र के स्थल परिवर्तन संबंधी प्राप्त प्रस्ताव पर चर्चा की गई। मतदाता सूची विशेष पुनरीक्षण का कार्य एक सितम्बर से 31 अक्टूबर तक किया जाएगा। एक सितम्बर को अहर्त्ता तिथि मानते हुए नये मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में प्रविष्टि करने के लिए प्रपत्र भरे जाएंगे। पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान नये मतदाताओं की प्रविष्टि, एक से अधिक मतदान केन्द्रों में एक ही व्यक्ति का नाम हटाने, मृत मतदाताओं का नाम हटाने, मतदाताओं का नाम व पता इत्यादि में सुधार करने एवं सेम एसी मे एक मतदान केन्द्र से दूसरे मतदान केन्द्र में नाम स्थानांतरित करने संबंधी आवश्यक प्रपत्र भरे जाएंगे। डीसी ने बैठक में निर्देश दिया पुनरीक्षण कार्यक्रम की निर्धारित अवधि में सभी बीएलओ अपने-अपने प्रतिनियुक्त मतदान केन्द्रों में प्रतिदिन उपस्थित रहकर प्रपत्रों का वितरण व प्रपत्र भरने का कार्य करेंगे। वहीं सुपरवाईजर प्रतिदिन बीएलओ द्वारा भरे हुए प्रपत्र प्राप्त कर बीपीआरओ के माध्यम से सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी को उपलब्ध कराएंगे। उन्होने पुनरीक्षण कार्य में राजनैतिक दलों द्वारा मतदान केन्द्रवार प्रतिनियुक्त बीएलए द्वारा संबंधित बीएलओ को सहयोग की अपील करते हुए कहा कि र्वाचन आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के बीएलए को बल्क एप्लीकेशन देने की अनुमति इस शर्त के साथ दी गई कि बीएलओ को एक समय या एक दिन में 10 से अधिक प्रपत्र नहीं जमा करेंगे।पुनरीक्षण अवधि के दौरान प्राप्त दावा का निराकरण 30 नवम्बर के पूर्व करते हुए चार जनवरी 2019 को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। बैठक में उप निर्वाचन पदाधिकारी अजय तिर्की, एसडीओ बसिया अमर कुमार , आरजेडी के योगेन्द्र प्रसाद साहु, कांग्रेस के रमेश चीनी,राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के अशोक कुमार शर्मा, जेवीएम के महेन्द्र उरांव व अन्य मौजूद थे।

विधानसभावार मतदाता और बूथ

डीसी के साथ राजनीतिक दलों की बैठक में विधानसभावार बूथों की संख्या और वहां के कुल मतदाताओं के बारे में बताया गया। जिसमें गुमला विधानसभा में 208411 मतदाताओं के लिए कुल 31 बूथ, सिसई विधानसभा में 2182214 मतदाताओं के लिए कुल 38 बूथ, विशुनपुर विधानसभा में 223302 मतदाताओं के लिए कुल 34 व सिमडेगा विधानसभा में शामिल पालकोट प्रखंड में 13 बूथों की संख्या बढ़ाई गई है।

इन बूथों में होगा फेरबदल

बैठक में विधान सभावार जर्जर हो चुके मतदान केन्द्र भवनों के परिवर्तन पर भी चर्चा की गई। परिवर्तन हुए केन्द्रों में आरसी प्राथमिक विद्यालय लुंगटू को पंचायत भवन लुंगटू,आंगनबाड़ी केन्द्र बोंगदा को जीईएल प्राथमिक विद्यालय बोंगदा, आरसी प्राथमिक विद्यालय झारो को नव उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय झारो, आरसी प्राथमिक विद्यालय किसनी को आंगनबाड़ी केन्द्र किसनी, आंगनबाड़ी केन्द्र हिसरी को आरसी प्राथमिक विद्यालय हिसरी, आदिम जाति सेवा मंडल विद्यालय विद्यालय जैरागी दक्षिणी भाग को राजकीय बालक प्राथमिक विद्यालय जैरागी दक्षिणी भाग,आदिम जाति सेवा मंडल विद्यालय विद्यालय जैरागी ऊतरी भाग को राजकीय बालक प्राथमिक विद्यालय जैरागी ऊतरी भाग, पंचायत भवन जुरमू को आरसी प्राथमिक विद्यालय जुरमू, आरसी प्राथमिक विद्यालय चिरैया को उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय कंडरवानी, प्राथमिक विद्यालय पारासिमा को आंगनबाड़ी केन्द्र पारासिमा, प्राथमिक विद्यालय निच खटंगा को पंचायत भवन उपर खटंगा एवं जी.एल. प्राथमिक विद्यालय कसीरा को उत्क्रमित उच्च विद्यालय कसीरा में परिवर्तन किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gumla governance exercises started in Gumala for Los and Vis elections