DA Image
26 जनवरी, 2021|6:24|IST

अगली स्टोरी

डीसी रायडीह ब्लॉक पहुंचे, प्रखंड सभागार में की समीक्षा बैठक

default image

रायडीह प्रतिनिधि।

डीसी शिशिर कुमार सिन्हा शनिवार को रायडीह ब्लॉक पहुंचे और प्रखंड सभागार में मनरेगा,दीदी बाड़ी योजना,पीएम आवास व शौचालय निर्माण सहित संचालित कई योजनाओं के प्रगति-उपलब्धि की समीक्षा की। डीसी ने सोक पिट,कंपोस्ट पिट,रेनवाटर हार्वेस्टिंग सहित अन्य कल्याणकारी योजना के अद्यतन स्थिति को समझा व आवश्यक दिशा निर्देश दिये। डीसी रोजगार अभियान फेज दो के तहत मानव कार्यदिवस के पुनर्जनन की समीक्षा की व ग्राम पंचायतवार प्रगति की समीक्षा करते हुए कुछ प्रखंडों में मानव कार्यदिवस के सृजन (पीडी जेनेरेशन) की गति बेहद धीमी होने पर नाराजगी व्यक्त करते इसमें प्रगति लाने के निर्देश दिये। मनरेगा संचालित योजनाओं की संख्या भी कमी पर डीसी ने सभी बीडीओं को पंचायतवार इसकी समीक्षा करते हुए छह-सात दिसंबर तक पीडी जेनेरेशन, योजनाओं में श्रमिकों की सहभागिता दर तथा संचालित (ऑनगोइंग) योजनाओं की स्थिति में सुधार लाने का निर्देश दिये। वहीं खराब प्रदर्शन करने वाले प्रखंडों में कनीय अभियंता, रोजगार एवं पंचायतसेवकों से स्पष्टिकरण पूछने तथा सदर प्रखंड के मुरकुण्डा पंचायत के रोजगार सेवक को हटाने के प्रस्ताव देने का निर्देश संबंधित बीडीओ को दिया। और मनरेगा अंतर्गत सोकपिट निर्माण, रेनवाटर हार्वेस्टिंग, कम्पोस्ट पिट संबंधित योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की समीक्षा के क्रम में प्रखंडवार सोक पिट, कम्पोस्ट पिट तथा रेनवाटर हार्वेस्टिंग योजनांतर्गत संचालित कार्यों की संख्या निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध बेहद कम मिला। समीक्षा के क्रम में बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रखंडों में रायडीह, कामडारा तथा बसिया शामिल हैं। जबकि बिशुनपुर, चैनपुर, पालकोट एवं भरनो प्रखंडों का प्रदर्शन काफी खराब पाया गया। दीदी बाड़ी योजना (पोषण वाटिका) के समीक्षा के क्रम में दीदी बाड़ी योजनांतर्गत पोषण वाटिका विकसित करने के निर्धारित लक्ष्य 35527 के विरूद्ध जेएसएलपीएस द्वारा कुल 5418 डाटा उपलब्ध कराया गया । बैठक में डीसी ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में अस्वीकृत एफटीओ के भुगतान के लिए सभी बीडीओं को संबंधित बैंकों से समन्वय स्थापित करते हुए शिविर का आयोजन कर लाभुकों के नाम, खाता एवं आधार संख्या इत्यादि में होने वाली त्रुटियों को अविलंब सुधार करते हुए राशि का भुगतान ससमय करने का निर्देश दिये। वही पीएमआवास (ग्रामीण) योजनांतर्गत लाभुकों का पंजीकरण, लंबित निबंधन, लाभुकों के अस्थायी पलायन संबंधी प्रतिवेदन, अयोग्य लाभुकों की सूची इत्यादि बिंदुओं पर समीक्षा करते हुऐ वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत निर्धारित लक्ष्य 16992 के विरूद्ध 13040 लाभुकों को पंजीकृत किया गया है। जबकि 755 लाभुकों का पंजीकरण अभी बाकी है। पूर्व में सभी प्रखंडों से लाभुकों के अस्थायी पलायन संबंधी प्रतिवेदन की मांग की गई थी, जिसमें से केवल घाघरा, चैनपुर तथा डुमरी प्रखंडों से प्रतिवेदन प्राप्त हुआ है। मौके पर डीडीसी संजय बिहारी अंबष्ठ,एसडीएम चैनपुर प्रीतिलता किस्कू, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता सुषमा नीलम सोरेंग, बीडीओं गुमला ,घाघरा,भरनो, बिशुनपुर, रायडीह,डुमरी, जारी,पालकोट, बसिया, कामडारा, सिसई, डीपीएम जेएसएलपीएस मनीषा सांचा, उप निर्वाचन पदाधिकारी महेंद्र रविदास, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा खुशेंद्र सोन केशरी, कार्यालय अधीक्षक शशि कुमार मिश्रा, विभिन्न प्रखंडों के बीपीओ उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DC reaches Raidih block review meeting in block auditorium