DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चैनपुर के सभी इंजीनियरों के वेतन पर लगायी रोक

चैनपुर के सभी इंजीनियरों के वेतन पर लगायी रोक

जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता गणेश राम ने जलपथ प्रमंडल सं.-1 चैनपुर के कार्यपालक अभियंता प्रभात कुमार समेत विभाग के तमाम अभियंताओं के वेतन भुगतान पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी है। कारण जिले के महत्वाकांक्षी अपर शंख जलाशय के दायें नहर में अंतिम छोर तक पानी पहुंचाने का कार्य विभाग नहीं कर सका।

अपर शंख जलाशय परियोजना जिले के डुमरी प्रखंड में स्थित है। और करीब तीन दशक पूर्व इसका निर्माण कार्य आरंभ हुआ था। इसके निर्माण पर अब तक अरबों रुपये खर्च हुए हैं। बावजूद इसके मुख्य दांयी नहर के अंतिम छोर तक पानी पहुंचाने का कार्य पूरा नहीं हुआ है। अपर शंख का पानी किसानों के खेत तक नहीं पहुंच सका है और महत्वपूर्ण परियोजना अब तक ठेकेदारों और अभियंताओं के लिए लूट-खसोट की योजना बन कर रह गया है।

पिछले वित्तीय वर्ष ही विभाग ने अपर शंख जलाशय से पानी छोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया था जो नहीं हो सका। फलस्वरूप विभाग ने दांयी नहर में पानी अंतिम छोर तक पहुंचाने का लक्ष्य किया । और पानी अंतिम छोर तक पहुंचाने के लिए हरसंभव प्रयास सम्मिलित रूप से करने की जिम्मेवारी जलपथ प्रमंडल सं.-1 के सभी अभियंताओं को सौंपी। इसके लिए बकायदा अभियंताओं का रोस्टर बनाया गया। फिर भी अभियंता रोस्टर डयूटी से गायब रहे।

तो पानी कैसे पहुंचेगा अंतिम छोर तक: अपर शंख के मुख्य दांयी नहर की लंबाई तकरीबन 13.11 किमी है। और इस नहर में पानी छोड़ने की क्षमता 97 क्यूसेक है। वर्तमान में दो-तीन क्यूसेक पानी ही जा रहा है। इसका कारण दांयी मुख्य नहर से होने वाले लिकेज का है। विभागीय अभियंताओं की बातों पर भरोसा करें तो विभाग ने अब तक नहर में पानी छोड़ने का आदेश ही आधिकारिक तौर पर निर्गत नहीं किया है। फिर पानी अंतिम छोर तक पहुंचाने की बात ही कहां से आती है। सभी अपना गला बचाने का प्रयास कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chief Engineer, Water Resources Department, stopped the levy on salary of all engineers including E.P. of Jalpaip division Nos. 1 Chanpur.