ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड घाटशिलापुरूलिया झारग्राम ट्रेन से दो स्कुली छात्रा ट्रेन से कुदी घायल,जाने क्या है मामला?

पुरूलिया झारग्राम ट्रेन से दो स्कुली छात्रा ट्रेन से कुदी घायल,जाने क्या है मामला?

गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद...

गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद...
1/ 2गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद...
गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद...
2/ 2गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद...
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,घाटशिलाFri, 07 Oct 2022 04:10 PM
ऐप पर पढ़ें

गालूडीह।गालूडीह रेलवे स्टेशन में दोपहर लगभग दो बजे दो छात्राएं पुरूलिया झारग्राम ट्रेन में चढ़ कर कुछ दुर जाने के बाद दोनों छात्राएं ट्रेन से कुद गई। इससे दोनों छात्राएं घायल हो गई। कुछ लोगों की मदद से दोनों बच्चियों को स्टेशन लाया गया।इधर गालूडीह थाना के एएसआई विनोद कुमार को सुचना मिलते ही गालूडीह स्टेशन पहुंचे और दोनों घायल बहनों को पुलिस जीप से निरामय हेल्थकेयर लाया। घायल रीना बास्के ने बताया कि वह हेंदलजुली के सिकराबासा गांव की है लेकिन बहुत दिनों से परिवार सहित टाटा का बड़ा गोबिंदपुर में रहता है। इसके साथ ही साथ वह दोनों बहन बेसिक मध्य विद्यालय स्कुल छोटा गोबिन्दपुर में पढ़ती है।रीना बास्के ने बताया कि वह आठवीं कक्षा में तथा उसकी बहन रायने बास्के सातवीं कक्षा में पढ़ती है। शुक्रवार को सुबह नौ बजे टाटा खड़गपुर ट्रेन से दोनों बहन गालूडीह आई थी। इसके बाद गालूडीह बैंक से पैसा उठा कर स्कुल ड्रेस खरीदी । उसके बाद वापस गोबिंदपुर जाना था।इसी क्रम में जब हड़बड़ा कर गालूडीह स्टेशन पहुंची तो उसने देखा ट्रेन खड़ी है वह बिना पुछे दोनों बहन ट्रेन में चढ़ गई जब ट्रेन घाटशिला की और जाने लगी तो वह घबरा गई क्योंकि उसे लगा ट्रेन टाटा जाएगी और दोनों ट्रेन का समय लगभग एक ही होने के कारण वह समझ नहीं सकी। और दोनों बहन ट्रेन से कुद गई।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper