DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रखंड में सबरों के लिए डाकिया योजना फेल

धालभूमगढ़ प्रखंड में सबरों के लिए चालू की गई डाकिया योजना फेल साबित हो रही है। जुगीशोल पंचायत के तिलाबनी के सबरों को आज भी सरकार की डाकिया योजना के तहत खाद्यान्न नहीं मिल रहा है। उन्हें या तो डीलर के पास जाना पड़ता है या ब्लॉक आना पड़ता है, तभी उन्हें अनाज मिलता है। मंगलवार को पंसस सह झामुमो प्रखंड अध्यक्ष चैतन मुर्मू के नेतृत्व में सबर बस्ती के महिला पुरुष सीओ सह प्रभारी एमओ के पास पहुंचे।

उनका कहना था कि उन्हें मई माह का खाद्यान्न अभी तक नहीं मिला है। साथ ही चार लोगों को मृत बताकर उन्हें अप्रैल के खाद्यान्न की आपूर्ति ही नहीं की गयी है। सबरों के साथ पहुंची जोबाफूल महिला समूह की चाम्पा मुर्मू ने कहा कि हर महीने मना करने पर भी गोदाम से हमारी गाड़ी में सबरों का खाद्यान्न डाल दिया जाता है तथा उन्हें वितरण करने को कहा जाता है। अप्रैल में परिवहनकर्ता ने कहा कि सबर टोला में चार लोगों की मौत हो गई तो चार बोरा चावल कम दिया गया, जबकि यहां किसी की भी मौत नहीं हुई है। सीओ हरिश्चंद्र मुंडा ने कहा कि जेएसएलपीएस द्वारा समय पर पैकेट तैयार नहीं करने के कारण माल भेजने में विलंब हुआ। उन्होंने कहा कि जितने भी सबरों को खाद्यान्न नहीं मिला है, वे तत्काल अपना नाम लिखाएं बुधवार को उन्हें खाद्यान्न भेज दिया जाएगा। चैतन मुर्मू ने कहा कि आपूर्ति विभाग का सबरों के प्रति बराबर यही रवैया है या तो उन्हें डीलर के पास जाना पड़ता है या प्रखंड आना पड़ता है। विभाग इस व्यवस्था को ठीक करें अन्यथा झामुमो आंदोलन करेगा। इस मौके पर लखी सबर, शंकर सबर, दुली सबर, खेकन सबर, शकुंतला सबर, चैताली सबर, सुजय सबर, पार्वती सबर, भारती सबर, गोविंद सबर आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The postman plan fails to break into the block