DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजनेस के बाद खेती के गुर सिखा रहे खेलाराम

जादूगोड़ा की हृदय स्थली सिदो-कान्हू चौक से चंद कदम पर नरवा रोड में मुर्मू कांप्लेक्स अपने आप में एक अहमियत रखता है। इस कांप्लेक्स में बैंक, बिजली ऑफिस से लेकर कई महत्वपूर्ण संस्थान हैं। इसके मालिक जाने-माने व्यवसायी खेलाराम मुर्मू हैं।

अब से पहले उनकी पहचान बिजनेसमैन की थी। लेकिन, कुछ माह पहले उन्होंने किसानों को खेती के प्रति प्रेरित करने के लिए एक अभियान चलाकर संस्था बनाई। किसान इसकी अहमियत समझें इसके लिए स्वयं दलहन और तेलहन की खेती शुरू की। आज इनके खेत में सरसों और चना के पौधों पर फूल लहलहा रहे हैं, जिसे देखकर अन्य 20 किसानों ने उनकी तरह खेती करने का प्रयास किया है।

खेलाराम मूर्म ने 10 एकड बंजर भूमि में सरसों समेत चना, मसूरदाल गेहूं व राहड़ दाल की खेती की है। धरती का सीना चीड़ कर खेतों में लहलहाती सरसों की खेती पूरे गांव के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन गया है। इनके इस कदम के बाद गांव के 20 अन्य किसानों ने स्वावलंबी बनने के लिए भाटिन गांव में खेती का सहारा लिया है। खेलाराम मूर्म कहते हैं कि सरकार खेतों तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था करे तो पंचायत के किसानों की गरीबी मिट जायेगी। कहा, खेती को फायदे में तब्दील करने के लिए आधुनिक तकनीक के अलावा मेहनत व जज्बा दोनों की जरूरत पड़ती है। सरकार से मिले अनुदान में बीज ने उनके हौसले को बढ़ा दिया है। आज बंजर भूमि में लहलहाती सरसों की खेती से पूरे परिवार और गांव के किसानों में मुस्कान आ गयी है। इस कार्य में वे पोटका प्रखंड कार्यालय के कृषि विभाग की भी अहम भूमिका बताते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sportsman after learning about the tricks of farming