DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रीति रिवाज पर दें खास ध्यान

रीति रिवाज पर दें खास ध्यान

पुड़सी आखाड़ा मिलन समारोह का आयोजन बुधवार को मौंदा में संथाल समाज के बाबा जयपाल सिंह मुर्मू की अध्यक्षता में की गई। मिलन समारोह में संथाल समाज के आदि काल से चले आ रहे संथाल समाज के रीती रिवाजों को सुचारू रूप से मानने और समाज को आगे बढ़ाने को लेकर विस्तार पूर्वक विचार-विमर्श किया गया। इस सम्मेलन में आठ गांव के माझी बाबा और समाज के लोग शामिल हुए। इसमें मौंदा ,कुमड़ाशोल, काशीडीह, इंचाडीह, बादीकोचा, भागाबांदी, बरडीह और हरेबेड़ा के ग्रामीण व मांझी बाबा शामिल थे। मौके पर प्रभात मुर्मू, गणेश टुडू, रधुनाथ सोरेन, सिद्वलाल टुडू, धनु हेंब्रम, कामेश्वर मुर्मू, सोनाराम हांसदा, श्रीमाल मुर्मू समेत कई लोग उपस्थित थे।

साहित्य शिखर सम्मान समारोह 17 : अभियान फॉर बेटर टूमॉरो की ओर से 17 फरवरी (सोमवार) को घाटशिला कॉलेज में संथाली भाषा विभाग की ओर से साहित्य शिखर सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएग। इस बात की जानकारी प्रो. इंदल पासवान और प्रो. मित्रेश्वर ने संयुक्त रूप से दी है। इस संबंध में उन्होंने बताया कि पद्मश्री प्रो.दिगंबर हांसदा और संथाली भाषा के साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त साहित्यकार का स्वागत किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद विद्युत वरण महतो, बहरागोड़ा विधायक कुणाल षाडंगी , घाटशिला के पूर्व विधायक रामदास सोरेन व देश परगाना उपस्थित रहेंगे। साहित्य शिखर सम्मान समारोह के दौरान कुल 12 साहित्यकारों को पुरस्कृत किया जा चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Special attention to custom