DA Image
21 अक्तूबर, 2020|10:06|IST

अगली स्टोरी

मजदूरों का बकाया भुगतान 30 तक दें, वर्ना कार्रवाई

default image

बागजाता यूरेनियम माइंस में एके इंटरप्राइजेज के अधीन काम करने वाले 45 मजदूरों को ठेका कार्य समाप्त होने की बात कहकर 14 सितंबर से काम से बैठा दिया गया है। इन्हें सितंबर माह का वेतन सहित विभिन्न सुविधाएं भी नहीं दी गई है। इस बात को लेकर वे नाराज हैं। इसके बाद ठेका मजदूरों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बुधवार सुबह सात बजे से बागजाता माइंस जाने वाली सड़क बाकड़ा पुल को जाम कर चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया। सुबह साढ़े नौ बजे बागजाता यूरेनियम माइंस के मैनेजर कल्याण नाथ जाम स्थल पर पहुंचे। उन्होंने बागजाता माइंस इम्पलॉइज यूनियन के महासचिव सिंधु हांसदा को अपर प्रबंधक कार्मिक डी हांसदा से फोन पर संपर्क कराकर वार्ता की अपील की। सिंधु हांसदा वार्ता के लिए तैयार हो गए। इसके बाद बीडीओ सह सीओ सीमा कुमारी की अध्यक्षता में प्रखंड कार्यालय में वार्ता शुरू हुई। इसमें यूसील अधिकारी, ठेकेदार एके खान, यूनियन के प्रतिनिधि व जिप सदस्य शामिल हुए। मजदूरों की मुख्य मांगों में सितंबर महीने का वेतन, ईएल छुट्टी का पैसा, रात्रि भत्ता, बोनस, पीएफ अपडेट करने सहित नियमित रोजगार शामिल थी। दो घंटे तक चली वार्ता में 15 अक्तूबर तक सार मांगें पूरी करने पर सहमति बनी। 14 दिन का बकाया वेतन पांच से 8 अक्तूबर के बीच, ईएल छुट्टी का पैसा 30 अक्तूबर तक देने पर प्रबंधन राजी हो गया। इसके बाद बागजाता माइंस इम्पलॉइज यूनियन ने शाम पांच बजे जाम हटा लिया। वार्ता समाप्त होने के बाद बीडीओ सह सीओ सीमा कुमारी ने ठेकेदार एके खान को सख्त निर्देश देते हुए वार्ता में लिए गए निर्णय को हर हाल में पूरा करने की चेतावनी दी। मौके पर माइंस मैनेजर कल्याण नाथ, जिप सदस्य बुद्धेश्वर मुर्मू, बागजाता माइंस इम्प्लॉइज यूनियन के महासचिव सिंधु हांसदा, सचिव चंद्राय हांसदा, सहायक सचिव मंगल माहाली, राम मार्डी, लोबो हांसदा, शाम मुर्मू, मागत मुर्मू, निमाई हांसदा,फकीर हांसदा शामिल थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pay dues of laborers up to 30 otherwise action