Misinformation report sent to deceit - सबरों को धोखे में रखकर भेजी गई गलत रिपोर्ट : देवगम DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सबरों को धोखे में रखकर भेजी गई गलत रिपोर्ट : देवगम

आरटीआई कार्यकर्ता सह जिला कांग्रेस के महासचिव सिर्मा देवगम ने मुख्यमंत्री जनसंवाद केन्द्र के नोडल पदापिकारी को पत्र भेजकर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी डुमरिया के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। देवगम ने पत्र में कहा है कि डुमरिया प्रखंड के केंदुआ पंचायत अंतर्गत रांगामटिया गांव के मुगली सबर पति स्व. झुरा सबर, पार्वती सबर पति रूईबा सबर, सिंगी सबर पति स्व. बुधिया सबर को 20 माह (अप्रैल 2017 से अक्तूबर 2018 तक) अनाज नहीं मिला है। आदिम जनजाति के इन सबर परिवारों को अनाज नहीं मिलने की शिकायत मुख्यमंत्री जनसंवाद केन्द्र रांची में की गई थी। शिकायत संख्या-2018-84171 दिनांक 12/9/018 है। देवगम के शिकायत के आधार पर मुख्यमंत्री जनसंवाद केन्द्र के नोडल पदाधिकारी ने उपायुक्त जमशेदपुर के माध्यम से जिला आपूर्ति पदाधिकारी पूर्वी सिंहभूम से रिपोर्ट मांगी थी। जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने जांच की जिम्मेवारी डुमरिया के आपूर्ति पदाधिकारी सिद्धेशवर पासवान को दिया था। जिला आपूर्ति पदाधिकारी के निर्देशानुसार प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने रांगामटिया गांव जाकर मामले की जांच की थी और जांच में सही पाया गया था। प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने अपने ऊपर कार्रवाई होने की डर से आनन-फानन में तीनों सबर परिवारों को एमओ ने 35-35 किलो अनाज उपलब्ध कराया गया, जबकि इन सबर परिवारों को 20 -20 माह का 700 -700 किलो अनाज मिलना था।इतना ही नही एमओ ने सबरों को 700-700 किलो अनाज के बजाय 35-35 किलो अनाज देकर धोखे से केन्दुआ पंचायत के मुखिया से हस्ताक्षर कराया गया। मुखिया को हस्ताक्षर कराये गये पत्र में एमओ ने सबरों से बयान लिखवाया है कि हमलोगों को हर माह अनाज मिलता है और कोई शिकायत नहीं है। देवगम ने पत्र में यह भी लिखा है कि एमओ डुमरिया ने मुख्यमंत्री जनसंवाद केन्द्र को गलत रिपोर्ट भेजकर गुमराह करने का काम किया है, इसलिए इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Misinformation report sent to deceit