Campaign condolences to Kuldeep Nayyar - अभियान ने कुलदीप नैय्यर को दी श्रद्धांजलि DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अभियान ने कुलदीप नैय्यर को दी श्रद्धांजलि

कुलदीप नैय्यर की मृत्यु की खबर पाकर गुरुवार को अभियान फॉर ए बेटर टुमॉरो की बैठक प्रो. मित्रेश्वर के आवास पर हुई। बैठक के पूर्व कुलदीप नैय्यर की आत्मा की शांति के लिए अभियान के सदस्यों ने दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि दी । इस मौके पर प्रो. इंदल पासवान ने इस महान लेखक स्तंभकार, मानवाधिकार कार्यकर्ता और कूटनीति के बहुमुंखी जीवन का विवरण प्रस्तुत किया।

उन्होंने कहा कि एक उर्दू अखबार से अपना जीवन प्रारंभ करने वाले 90 वर्ष की उम्र में भी 80 अखबारों और 14 भाषायों में अपने लेख प्रकाशित किये। राज्यसभा सदस्य और ब्रिटेन के उच्चायुक्त के रूप में उनके योगदान को भी बाताया। संयुक्त राष्ट्र संघ में वे भारतीय पक्ष को रखने वाले शिष्ट मंडलों में वे शामिल हुए। उनकी सभी पुस्तकें एक स्वस्थ और प्रगतिशील भारत की परिकल्पना के मानचित्र हैं। प्रो. मित्रेश्वर ने कहा कि बौद्धिक जगत से एक कद्दावर उठ गया। एक सन्नाटा पसर गया है और जनहित में सदैव बोलने वाली आवाज हमेशा के लिए चुप हो गई। कुलदीप नैय्यर हमेशा मानत थे कि पत्रकारिता को सरकार का भोंपू बनने से बचाना चाहिए। इसी वर्ष भाजपा के अध्यक्ष अमित साह को जब उन्होंने अपनी आपत्तियां बताईं, तब एक 95 वर्ष का शेर एक योद्ध की तरह अपनी कलम और जुबान लिए सन्नद्व दिखाई पड़ा। मौके पर रेणुका चौधरी, अनुराग ,सुमन सिंह, प्रो. इंदल पासवान, प्रो. सुबोध सिंह आदि कई लोग उपस्थित थे ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Campaign condolences to Kuldeep Nayyar