DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोजगार सेवक हड़ताल पर


रोजगार सेवक हड़ताल पर

चाकुलिया प्रखंड कार्यालय परिसर में मंगलवार से रोजगार सेवकों का तीन दिवसीय सांकेतिक हड़ताल शुरू हुआ। इस दौरान रोजगार सेवकों ने प्रखंड कार्यालय में धरना दिया और काम बंद रखा।धरना स्थल पर उपस्थित रोजगार सेवकों को संबोधित करते हुए संघ के अध्यक्ष जगमोहन साहू ने आरोप लगाया कि रोजगार सेवकों से टारगेट देखकर बंधुआ मजदूर की तरह काम लिया जा रहा है। बात-बात पर अधिकारियों द्वारा चयनमुक्त करने की धमकी दी जाती है। इस कारण मनरेगाकर्मियों को हमेशा भय के साए में रहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि 11 वर्षों से राज्य के मनरेगा कर्मचारी अल्पमानदेय पर काम कर रहे हैं। बार-बार मांग पत्र देने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा कोई पहल नहीं की जा रही है। प्रमुख पांच मांगें : उनकी पांच प्रमुख मांगों में मनरेगाकर्मियों को उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार समान काम-समान वेतन दी जाए, मनरेगा के संविदा आधारित रिक्त पदों पर लेखा सहायक, कंप्यूटर सहायक, ग्राम रोजगार सेवक को अवसर दी जाए, दोषी पाए जाने वाले मनरेगा कर्मियों को सीधे बर्खास्त करने के बजाए सरकारी कर्मियों की तरह कार्रवाई हो, मानदेय भुगतान हेतु प्रशासनिक मद के बजाय अलग शीर्ष का गठन करते हुए नियमित भुगतान की व्यवस्था हो तथा सामाजिक अंकेक्षण के नाम पर भयादोहन, मानसिक शोषण, आर्थिक दंड भार पर रोक लगाते हुए सरकारी पदाधिकारी की देखरेख में अंकेक्षण कराई जाए। अपनी मांगों को लेकर मनरेगा कर्मी 11 से 13 सितंबर तक हड़ताल करेंगे। हड़ताल को जिप सदस्य का समर्थन : हड़ताल को समर्थन देने चाकुलिया प्रखंड के जिला परिषद सदस्य शिवचरण हांसदा पहुंचे। उन्होंने मनरेगा कर्मियों की समस्याओं को जाना और उनके द्वारा दिए गए ज्ञापन को वरीय पदाधिकारियों तक पहुंचाकर मांगे मनवाने का आश्वासन भी दिया। मौके पर मनोरंजन महतो, लपसा सोरेन, समीर बेरा, आदत्यि गिरी, अनूप पंडा, दयाल राणा, कल्याणी सोरेन, मोहनलाल टूडू आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 23 5000 rojagaar sevak hadataal par Employment worker strike on strike