ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड गढ़वाबारिश पर भारी पड़ा मां सरस्वती की पूजा अर्चना का उत्साह

बारिश पर भारी पड़ा मां सरस्वती की पूजा अर्चना का उत्साह

बारिश के बीच जिलेभर में विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा अर्चना को लेकर उत्साह रहा। मंगलवार से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। जिला मुख्यालय सहित...

बारिश पर भारी पड़ा मां सरस्वती की पूजा अर्चना का उत्साह
हिन्दुस्तान टीम,गढ़वाThu, 15 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

गढ़वा, हिटी। बारिश के बीच जिलेभर में विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा अर्चना को लेकर उत्साह रहा। मंगलवार से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। जिला मुख्यालय सहित विभिन्न इलाकों में बारिश हुई थी। उक्त कारण पूजा अर्चना को लेकर छात्रों को पंडाल बनाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा। बुधवार को जिला मुख्यालय सहित अन्य इलाकों में ओलावृष्टि के साथ बारिश ने पूजा अर्चना में बाधा डाला। उसके बाद भी मां सरस्वती की पूजा अर्चना के उत्साह में कमी नहीं दिखी। सोनतटीय इलाकों में अत्यधिक ओलावृष्टि और बारिश के कारण अपेक्षाकृत अधिक परेशानी हुई।
जिलांतर्गत कांडी प्रखंड मुख्यालय सहित विभिन्न गांवों के स्कूलों व कोचिंग संस्थानों के अलावा पूजा समितियों की ओर से मां सरस्वती की पूजा अर्चना की गई। श्रद्धालुओं व छात्र-छात्राओं में पूजा अर्चना को लेकर काफी उत्साह था। प्राथमिक विद्यालय सबुआं, घटहुआं कला, लमारी कला, खुटहेरिया, लमारी खुर्द, कांडी, पतीला सहित प्रखंड के अधिसंख्य भागों में पूजा का आयोजन किया गया । मां सरस्वती के जयघोष से सम्पूर्ण वातावरण गूंजायमान रहा। उधर प्रखंड में पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण आयोजन में बाधा भी उत्पन्न हुई। मंगलवार को दोपहर में मात्र एक से डेढ़ घंटा के लिए बारिश बंद हुई थी। उसी बीच प्रतिमा लाने का मौका लोगों को मिला। प्रतिमा लेकर लोग जल्दी जल्दी अपने अपने पूजा स्थल पर लाए। सबसे अधिक परेशानी वैसे आयोजनकर्ताओं को हुआ जो पूजा का आयोजन खुले स्थान पर किए थे। उन्हें पानी से बचाव के लिए तिरपाल व प्लास्टिक की व्यवस्था करनी पड़ी। उधर भवनाथपुर में भी रूक-रूककर हो रही बारिश के बाद भी मां सरस्वती की आराधना और उल्लास में कमी नहीं देखी गई। प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों के शैक्षणिक संस्थानों के अलावा पूजा पंडालों में मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित कर विधि-विधान पूर्वक आराधना की गई। बारिश के कारण परेशानी तो जरूर हुई फिर भी सरस्वती पूजा को लेकर छात्र-छात्राओं में उल्लास का माहौल देखा गया। उसे लेकर बच्चे कई दिनों से तैयारी में जुटे हुए थे। बुधवार सुबह पंडितों के वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित कराया। उसके बाद श्रद्धा पूर्वक पूजा-अर्चना की गई। सानमती कामेश्वर साह सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, सरस्वती विद्या मंदिर भवनाथपुर नगरी, अपग्रेड नर्सरी इंग्लिश स्कूल, उत्क्रमित मध्य विद्यालय कैलान, सनसाइन पब्लिक स्कूल चपरी सहित अन्य शिक्षण संस्थानों में उल्लास पूर्वक पूजा अर्चना की गई। उधर डंडई प्रखंड क्षेत्र में भी धूमधाम मां सरस्वती की पूजा अर्चना की गई। पूजा को लेकर स्कूल और शैक्षणिक संस्थाओं में दिनभर गुलजार रहा। दो दिनों की बारिश ने पूरी तैयारी पर पानी फेर दिया। स्कूलों में एक कमरे में रखकर पूजा अर्चना की गई। प्रखंड के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय, आरजीएसएम पब्लिक स्कूल, उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय बहेरवा, जमा दो उच्च विद्यालय लवाही कला, उत्क्रमित मध्य विद्यालय बेलवा टिकर, उत्क्रमित मध्य विद्यालय निमियाखांड़ सहित अन्य जगहों पर भी पूजा अर्चना की गई। अधिसंख्य जगहों पर मूर्ति विसर्जन गुरुवार को किया जाएगा। जिला मुख्यालय में विसर्जन के दौरान किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न न हो उसके लिए पुलिस बल की तैनाती की गई है। अन्य थाना क्षेत्रों में भी सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें