ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड गढ़वाफांकाकशी में जी रही मृतक की पत्नी काम के लिए दर-दर भटक रही

फांकाकशी में जी रही मृतक की पत्नी काम के लिए दर-दर भटक रही

फोटो भंडरिया एक: जानकारी देती मृतक मनरेगा मजदूर कमसुल मिंज की पत्नी प्रेमिका देवी प्रखंड के करचाली गांव निवासी मृतक मनरेगा मजदूर कमसुल मिंज की पत्नी...

फांकाकशी में जी रही मृतक की पत्नी काम के लिए दर-दर भटक रही
हिन्दुस्तान टीम,गढ़वाSun, 23 Jun 2024 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

भंडरिया। प्रखंड के करचाली गांव निवासी मृतक मनरेगा मजदूर कमसुल मिंज की पत्नी प्रेमिका देवी जॉब कार्ड डिलीट कर देने के बाद से काम के लिए दर-दर भटक रही है। उसे मनरेगा में कहीं भी रोजगार नहीं मिल पा रहा है। मालूम हो कि 10 साल पहले मरे कमसुल मिंज के नाम से मनरेगा योजना में फर्जी हाजिरी बना कर राशि की निकासी का मामला हाल ही में प्रकाश में आया था। उक्त कार्य में मनरेगा कर्मियों की मिलीभगत बताई जा रही है। मामला प्रकाश में आने के बाद मनरेगा बीपीओ द्वारा उक्त जॉब कार्ड को डिलीट कर दिया गया। उसी जॉब कार्ड में मृतक कमसुल की जीवित पत्नी प्रेमिका देवी का भी नाम शामिल था। जॉब कार्ड डिलीट हो जाने के बाद प्रेमिका को अब मनरेगा में काम नहीं मिल पा रहा है। जंगल से डोरी चुन कर या अन्यत्र काम कर अपना पेट चला रही है। प्रेमिका ने बताया कि वह मनरेगा में काम करने के लिए सक्षम है। तालाब, डोभा योजना में मिट्टी फेंकने का काम कर लेती है। कई जगह काम के लिए गई लेकिन जॉब कार्ड नहीं होने के कारण उसे काम नहीं दिया गया। प्रेमिका ने कहा कि मामला अखबार में आने के बाद उनका पुराना जॉब कार्ड, आधार कार्ड और बैंक का पासबुक जांच के नाम पर रोजगार सेवक अनिमा बाखला द्वारा ले लिया गया है। वह एक सप्ताह बाद भी नहीं लौटाई गई है। मामले में प्रखंड प्रमुख रुक्मिणी देवी ने कहा कि 10 साल पूर्व मृत व्यक्ति के नाम से राशि निकालना मनरेगा योजना में खुल्लम-खुल्ला फर्जीवाड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रखंड क्षेत्र में मनरेगा योजना में भ्रष्टाचार चरम पर पहुंच गया है। अधिकारी व कर्मचारी बेलगाम हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रखंड क्षेत्र में मनरेगा एक्ट का खुला उल्लंघन किया जा रहा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।