DA Image
3 अगस्त, 2020|11:42|IST

अगली स्टोरी

भारी बारिश से धान डूबा, पंडी नदी उफान पर

default image

प्रखंड क्षेत्र में बुधवार की रात से ही रुक-रुक मुसलाधार बारिश हो रही है। गुरुवार को मूसलाधार बारिश से कुछ किसानों में खुशी है तो कुछ किसानों में गम। मालूम हो कि हाल ही में खेतों में रोपे गए धान पानी के बहाव में बह गए। प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत लमारी कला पंचायत के सबुआँ गांव में किसानों को अधिक नुकसान हुआ। यहां के किसानों ने बताया कि मूसलाधार बारिश से फुटहड़वा अहरा भर गया है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि बांध भी न टूट जाए। क्षमता से अधिक पानी होने के बाद उक्त अहरा से कनवाह के माध्यम से नीचे दोहर में नदी की तरह पानी आ रहा है। किसानों ने बताया कि बड़ी उम्मीद से मजदूर व बनिहार लगा कर धान रोपे थे। सब कुछ बेकार हो गया। साथ ही किसानों ने बताया कि उक्त आहरा का बांध कमजोर है। अगर बांध टूट गया तो जो शेष बचा है वह भी बह जाएगा। दोहर तो नदी की भांति उमड़ती दिख रही है। वहीं दोहर में ग्यारह हजार वोल्ट का तार लगे सभी पोल झूकने लगे हैं। उधर वर्षा का पानी से पंडी नदी उफान पर है। सतबहिनी झरना तीर्थ में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। पूरे पहाड़ से झरना गिर रहा है। मां की मंदिर तक जाने वाली पुल मार्ग अब डूबने के कगार पर पहुंच गया है। नदी का पानी पुल को छूने लगा था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Paddy drowned due to heavy rain Pandi river in spate