DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › गढ़वा › डोलोमाइट खदान में कार्यरत मजदूरों का फाइनल सेटलमेंट किये जाने का विरोध
गढ़वा

डोलोमाइट खदान में कार्यरत मजदूरों का फाइनल सेटलमेंट किये जाने का विरोध

हिन्दुस्तान टीम,गढ़वाPublished By: Newswrap
Tue, 14 Sep 2021 08:00 PM
डोलोमाइट खदान में कार्यरत मजदूरों का फाइनल सेटलमेंट किये जाने का विरोध

भवनाथपुर। प्रतिनिधि

मंगलवार को टाऊनशिप स्थित सेल के मैदान में तुलसीदामर डोलोमाइट खदान में कार्यरत मजदूरों का सेल प्रबंधन की ओर से गुपचुप तरीके से फाइनल सेटलमेंट की प्रक्रिया किये जाने को लेकर इंटक यूनियन के (त्रिपाठी) गुट के नेतृत्व में मजदूरों ने बैठक की। उसमें मजदूरों को संबोधित करते हुए यूनियन के महामंत्री सुशील चौबे ने मजदुरों को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ दलाल यूनियन की मिलीभगत से सेल प्रबंधन तुलसीदामर डोलोमाइट खदान को बंद करने की साजिश रच रहा है। इस मंशा को पूरा नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि 370 बी फॉर्म में निबंधित 370 मजदूरों को सेल प्रबंधन गुपचुप तरीके से फाइनल सेटलमेंट करने के प्रयास में है। वहीं इंटक(त्रिपाठी गुट) यूनियन के द्वारा लगातार खदान को खोलने का सेल प्रबंधन और सरकार से लगातार प्रयास किया जा रहा है। उस स्थिति में सेल प्रबंधन खदान बंद करने की मंशा से मजदूरों का फाइनल सेटलमेंट कर रही है जो कि यह प्रक्रिया मजदूरों के मृत्यु या रिटायरमेंट के बाद ही होता है। बैठक के अंत में यूनियन के द्वारा तीन सूत्री मांग पत्र जीएम को सौंपा गया। मांग पत्र में तुलसीदामर डोलोमाइट खदान चालू कर कार्यरत सभी निबंधित कर्मी को कार्य दिया जाए। तुलसीदामर डोलोमाइट खदान में कार्यरत निबंधित कर्मी का नियमविरुद्ध पूर्ण अंतिम समझौता पर तत्काल रोक लगाने और अनुमंडल पदाधिकारी के पत्रांक 487 दिनांक 21 अगस्त 2021 एम पत्रांक 513 दिनांक 2 सितंबर द्वारा डोलोमाइट श्रमिकों को बंद अवधि के न्यूनतम मजदूरी भुगतान को तत्काल लागू करने की मांग शामिल है।

बैठक में रामलखन राम, शंभु राम, अनिरुद्ध यादव, रामजी बैठा, रामकेश पाल, सुदर्शन साह, जयकुमार राम, बाला यादव, सुरेश ठाकुर, रूपनारायण बियार, कैलाश साव सहित अन्य मजदूर उपस्थित थे।

संबंधित खबरें