ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड गढ़वासामान्य दिनों की तरह हो रही है जमीन की रजिस्ट्री, अबतक फ्लैट नहीं बिका

सामान्य दिनों की तरह हो रही है जमीन की रजिस्ट्री, अबतक फ्लैट नहीं बिका

दिवाली के मद्देनजर धनतेरस पर जिले में रियर एस्टेट सेक्टर का कारोबार सामान्य रहने की उम्मीद है। धनतेरस पर जमीन खरीद-बिक्री को लेकर आपाधापी नहीं...

सामान्य दिनों की तरह हो रही है जमीन की रजिस्ट्री, अबतक फ्लैट नहीं बिका
हिन्दुस्तान टीम,गढ़वाWed, 08 Nov 2023 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

गढ़वा, प्रतिनिधि। दिवाली के मद्देनजर धनतेरस पर जिले में रियर एस्टेट सेक्टर का कारोबार सामान्य रहने की उम्मीद है। धनतेरस पर जमीन खरीद-बिक्री को लेकर आपाधापी नहीं है। जिला निबंधन कार्यालय में इस त्योहार के मौसम में भी सामान्य दिनों की तरह ही जमीन की खरीददारी हो रही है। रजिस्ट्री कार्यालय में प्रत्येक दिन औसतन 15 से 20 लोग जमीन की खरीददारी कर रहे हैं।
गढ़वा में जमीन की रजिस्ट्री के लिए एक दिन में स्लॉट बुकिंग की कुल क्षमता 70 है। उसमें से प्रत्येक दिन ग्रामीण और शहरी इलाका में मिलाकर 15 से 20 लोग ही जमीन की खरीदारी कर रहे हैं। उसमें से अधिकतर जमीन की बिक्री ग्रामीण इलाकों का ही होता है। क्षमता से भी कम जमीन की खरीद बिक्री होने के कारण आपाधापी नहीं होती है। लोग बगैर किसी परेशानी के जमीन का खरीद बिक्री कर रहे हैं। उधर गढ़वा में फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं के बराबर होता है। विभागीय आकड़ों के अनुसार गढ़वा में इस वर्ष एक भी फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं हुई है। डीड लिखने वाले लोगों के पास भी काम की अधिकता नहीं है। इस संबंध में नवीस संघ के वरिष्ठ सदस्य अवधेश कुशवाहा ने बताया कि त्यौहार के सीजन में रजिस्ट्री कराने को लेकर कोई आपाधापी नहीं है। सीएनटी के दायरा में आने वाले मामलों के लिए परशमिशन मिलने के बाद भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बताया कि सीएनटी वाले मामले में अपर समाहर्ता से लेकर अंचल कार्यालय तक का परमिशन चाहिए होता है। दोनों जगहों से परमिशन मिलने के बाद कागजात जब रजिस्ट्री कार्यालय पहुंचता है तो उक्त जमीन पर वन विभाग का दावा होता है जबकि उक्त जमीन रैयत का है। उसके कारण परमिशन के बाद भी रैयत का रजिस्ट्री नहीं हो पाता है। उक्त कारण लोग शुभ मुहर्त में अपना रजिस्ट्री नहीं करा पाते है। वहीं आमतौर पर होने वाले रजिस्ट्री में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं आती है।

जिला निबंधन पदाधिकारी विवेक चंद्र पांडेय ने कहा, रजिस्ट्री कार्यालय में त्योहार को लेकर डीड में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। वर्तमान समय में आम दिनों की तरह ही जमीन का डीड हो रहा है। जमीन की रजिस्ट्री के लिए एक दिन में स्लॉट बुकिंग की कुल क्षमता 70 है। उसके विपरीत 15-20 लोग ही रजिस्ट्ररी करा रहे हैं। उक्त कारण रजिस्ट्री को लेकर कोई आपाधापी नहीं है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें