ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड गढ़वामनरेगा योजनाओं में गड़बड़ी, बीडीओ-बीपीओ को लगा अर्थदंड

मनरेगा योजनाओं में गड़बड़ी, बीडीओ-बीपीओ को लगा अर्थदंड

फोटो संख्या प्रताप एक: डीसी के निर्देश पर नगर ऊंटारी प्रखंड के चित विश्राम गांव में मनरेगा योजनाओं की जांच करते एसडीओ व टीम के अन्य...

मनरेगा योजनाओं में गड़बड़ी, बीडीओ-बीपीओ को लगा अर्थदंड
default image
हिन्दुस्तान टीम,गढ़वाSun, 23 Jun 2024 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

गढ़वा, प्रतिनिधि। जिलांतर्गत नगर ऊंटारी प्रखंड के चितविश्राम गांव में मनरेगा योजनाओं में भारी अनियमतता की शिकायत डीसी शेखर जमुआर से की गई थी। उक्त शिकायत के आलोक में डीसी ने योजनाओं की जांच के लिए नगर ऊंटारी के अनुंडल पदाधिकारी की अध्यक्षता में टीम गठित की गई। शनिवार को टीम के सदस्यों ने मनरेगा योजनाओं की जांच की। जांच के दौरा आठ योजनाओं में से सात में अनियमितता पाई गई। मामले में योजनाओं की समीक्षा और पर्यवेक्षण में लापरवाही का दोषी पाते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी और प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी पर मनरेगा एक्ट के तहत एक-एक हजार का अर्थदंड लगाया गया है।
जांच दल की ओर से मनरेगा की की गई आठ योजनाओं के निरीक्षण में टीसीबी निर्माण की सात योजनाओं मं अनियमितता पाई गई है। उक्त योजनाओं पाया गया कि कार्य से अधिक भुगतान किया गया है। उक्त योजनाओं में अनियमितता की पुष्टि होने पर डीसी ने कड़ा रूख अपनाते हुए कार्य से अधिक भुगतान की गई राशि का 12 प्रतिशत ब्याज के साथ वसूली का आदेश दिया है। उक्त राशि संबंधित ग्राम रोजगार सेवक, पंचायत सचिव, मुखिया, कनीय अभियंता व मेट से वसूली की जाएगी। साथ ही कार्रवाई करते हुए मेट को तत्काल हटा दिया गया। उसके अलावा सभी दोषी कर्मियों को शोकॉज करते हुए स्पष्टीकरण का जवाब मांग गया है। स्पष्टीकरण प्राप्त होने के बाद दोषी कर्मी के विरूद्ध संविदा समाप्त/विभागीय कार्रवाई व मुखिया की वित्तीय शक्ति जब्त करने की अग्रेत्तर कार्रवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।