अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों के विकास में भारत का भविष्य निर्भर

बच्चें देश की सम्पति है। उनकी सुरक्षा, शिक्षा, स्वास्थ्य और शारिरीक विकास में भारत का भविष्य निर्भर करता है।इन्हें सरकार और कानून द्वारा दिया हुआ अधिकार उन तक पहुंचे इसे समाज को सुनिशिचत करना होगा। उक्त बाते डीएलएसए सचिव राजेश श्रीवास्तव ने नगर उंटारी उच्च विद्यालय में आयोजित विधिक जागरुकता शिविर में कहा है। उन्होंने कहा कि फोस्टर केयर और स्पॉसंरशिप के प्रति जागरुक करने के लिए जिले के हर प्रखंड में टीम गठित की गई है।जो अनाथ, लवारीश, असाध्य रोग से ग्रसित बच्चों की पहचान कर डीएलएसए को सूचित करेंगा।जिसे की उन्हें सरकार की ओर से दी जाने वाले योजना और कानूनी संरक्षण दिया जा सके।अंचल पदाधिकारी अरुनिमा एक्का ने कहा कि सेविका, सहायिका समाज से जुड़ी रहती है। वे पहचान कर जानकारी दे।जिसे की वैसे बच्चों को लाभ दिया जा सके। अधिवक्ता रामकृष्ण शुक्ला ने कहा कि जिले में बच्चों के संरक्षण और सुरक्षा को लेकर बाल कल्याण समिति स्थापीत की गई है।नवजात लावारिश बच्चें, अनाथ, खानाबदोश बच्चें की जानकारी दे।जिसे की उन्हें उचित शिक्षा, सुरक्षा दिया जा सके। टीम के सदस्य राकेश कुमार शुक्ला, पीएलभी सहित अन्य ने भी विचार व्यक्त की। मौके पर शिक्षक, शिक्षिकाएं, आंगनबाड़ी सेविका और छात्र-छात्राए उपसिथत थे। मंच का संचालन डीएलएसए सचिव ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India's future depends on the development of children