DA Image
14 अगस्त, 2020|8:08|IST

अगली स्टोरी

बंधक बना युवक गया जेल, पथराव मामले में 60 ग्रामीणों पर केस

default image

रामगढ़ प्रखंड के ठाढीहाट पंचायत के गंडक गांव में मंगलवार को एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़े गए ठाढीहाट गांव के युवक बाबू लाहा को पुलिस ने दुष्कर्म का प्रयास के आरोप में जेल भेज दिया। जिस महिला के साथ बाबू लाहा पकड़ा गया उसी महिला ने उसपर दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई। प्राथमिकी दर्ज करने के बाद जहां आरोपी युवक बाबू लाहा को कोर्ट में पेशी के लिए दुमका ले जाया गया वहीं पीड़िता को पुलिस ने उसके मायके वालों को सुपुर्द कर दिया।

बता दें कि गंडक गांव के लोगों ने बुधवार को बाबू लाहा को उसे बंधक बना कर 2 लाख जुर्माना किया था। इधर महिला के साथ दुष्कर्म के प्रयास के आरोप में जेल भेजे गए युवक बाबू लाहा के पिता गोपाल लाहा के बयान पर गंडक गांव के दिलीप मुर्मू एवं विजय मुर्मू के साथ ही गांव के 50-60 अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है। गोपाल लाहा ने अपने लिखित बयान में गंडक गांव के नामजद एवं अज्ञात लोगों पर अपने बेटे को बंधक बनाने,उस पर 2 लाख रुपए जुर्माना करने,नहीं देने पर जान से मारने की धमकी देने और पुलिस द्वारा बेटे को छुड़ाने के बाद लौटने के दौरान ईंट-पत्थर से पथराव करने का आरोप लगाया है।

गोपाल लाहा ने अपने बयान में कहा कि ग्रामीणों द्वारा बेटे को बंधक बनाए जाने की सूचना पर वे अपने छोटे बेटे संटू लाहा के साथ अपने बेटे को छुड़वाने गंडक गांव गए थे। बात नहीं बनने पर पुलिस के द्वारा उसके बेटे तथा महिला को ग्रामीणों के चंगुल से मुक्त करा कर रामगढ़ थाना लाया जा रहा था, इसी बीच ग्रामीणों ने पथराव कर दिया जिससे कई ग्रामीणों के साथ साथ मुझे और बेटे संटू लाहा को चोट लगी है। संटू लाहा की बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई है।

2 लाख जुर्माना न देने पर जान मारने की धमकी भी दी थी

ग्रामीणों ने जोरिया के पास से दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ कर बंधक बना लिया था। बुधवार को दिनभर चले पंचायती के बाद आरोपी युवक को ग्रामीणों ने दो लाख रुपए का जुर्माना लगाया था। जुर्माना की रकम नहीं अदा किए जाने के कारण ग्रामीणों द्वारा युवक की काफी पिटाई की गई थी और जान मारने की धमकी दी थी। मामले की जानकारी प्रशासन को होने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची मगर ग्रामीण पुलिस की कोई बात सुनने को तैयार नहीं हुए। बाद में देर शाम अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनिमेष नैथानी,बीडीओ साइमन मरांडी और थाना प्रभारी राजीव प्रकाश के नेतृत्व में पुलिस बल गांव गई। दोनों बंधकों को ग्रामीणों के चंगुल से मुक्त कराया। लौटते समय पुलिस के काफिले पर ग्रामीणों ने पथराव भी कर दिया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Youth held hostage in jail case against 60 villagers in stone pelting case