DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › दुमका › मसानजोर के 3 गेट से छोड़ा जा रहा पानी
दुमका

मसानजोर के 3 गेट से छोड़ा जा रहा पानी

हिन्दुस्तान टीम,दुमकाPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 04:12 AM
मसानजोर के 3 गेट से छोड़ा जा रहा पानी

दुमका/रानेश्वर (प्रतिनिधि)।

शनिवार को सुबह से दुमका और आसपास के इलाके में बारिश नहीं हुई पर शुक्रवार को रात तक हुई बारिश का असर शनिवार को भी दिखा। एक दिन पहले हुई मूसलाधार बारिश के कारण नदियों में उफान है। निचले इलाके और खेतों में जल जमाव है। मसानजोर में 24 घंटे के अंदर 33.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। बारिश के कारण मसानजोर डैम के जलस्तर में भी लगातार वृद्धि हो रही है। शुक्रवार को डैम का जल स्तर 381.5 फीट था। जलस्तर में एक दिन में करीब 2 फीट का इजाफा हो गया। शनिवार को मसानजोर डैम का जलस्तर 383.60 फीट था।

मूसलाधार बारिश में मयूराक्षी और उसकी सहायक नदियों में जल स्तर बढ़ने के कारण शुक्रवार को मसानजोर डैम का 5 गेट खोल दिए गए थे। शनिवार को बारिश थमने के बाद मसानजोर डैम का दो गेट बंद कर दिया गया। अभी भी मसानजोर डैम का तीन गेट खुला हुआ है। डैम के प्रत्येक गेट से 2500 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। डैम से छोड़ा गया मयूराक्षी का पानी पश्चिम बंगाल के तिलपडा बैराज में स्टोर हो रहा है। वहां से नहर के माध्यम से वीरभूम जिला के विभिन्न इलाके के अलावा मुर्शिदाबाद जिला को भी सिंचाई पानी उपलब्ध कराई जाती है। इधर दो दिनों से हुई बारिश को लेकर इलाके में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कच्चा सड़क कीचड़मय हो गया है। दिगल पहाड़ी पर बना गड्ढे में पानी भर गया है। लोगों को आवाजाही में काफी कठिनाई की सामना करना पड़ रहा है। इस रोड का निर्माण ग्रामीण विकास विभाग से किया गया था।

संबंधित खबरें