DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  दुमका  ›  पेयजल की समस्या को लेकर शिकारीपाड़ा के ग्रामीणों ने किया विरोध
दुमका

पेयजल की समस्या को लेकर शिकारीपाड़ा के ग्रामीणों ने किया विरोध

हिन्दुस्तान टीम,दुमकाPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:21 AM
पेयजल की समस्या को लेकर शिकारीपाड़ा के ग्रामीणों ने किया विरोध

पेयजल की समस्या को लेकर शिकारीपाड़ा के ग्रामीणों ने किया विरोध

शिकारीपाड़ा। शिकारीपाड़ा प्रखंड के सैकड़ों गांव में पेयजल की किल्लत गहराने से लोग बरसात के पानी पीने को विवश है। शिकारीपाड़ा पंचायत के सुंदरा प्लान में पानी टंकी महीनों से खराब पड़ा है। इसके अलावा सीमानीजोर पंचायत के दर्जनों पहाड़िया बाहुल्य गांव चित्रागढ़िया, बांसपहाड़ी, शहरपुर, झुनकी, पलासी, जामुगड़िया, कुशपहाड़ी, बरमसिया, मुड़ायाम आदि पंचायतों में पेयजल की किल्लत बढ़ने से लोग बरसात के पानी पीने को विवश हो गए है। पंचायतों में केवल चापाकल मरम्मत के नाम पर लाखों की राशि निकासी की जा रही है, मगर धरातल पर महीनों से चापाकल खराब पड़े है। प्रखंड प्रमुख शांति मुर्मू ने बताया पंचायत स्तरों से कराए जा रहे चापाकल मरम्मत कार्य में अनियमितता बरती जा रही है। उक्त मामले में जल्द ही जिला प्रशासन से शिकायत की जाएगी। ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत स्तर से किए जा रहे खर्च में भारी अनियमितताएं बरती जा रही है। खराब चापाकल को हल्की मरम्मत कर भारी पैमाने पर राशि की अवैध निकासी की जा रही है। उक्त पंचायतों में जिला प्रशासन द्वारा उच्च स्तरीय जांच कराए जाने पर करोड़ों रुपए का घोटाला उजागर हो सकता है। बहरहाल पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अधिकारी के क्षेत्र में नहीं आने पर पहुंचने से ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। जल्द ही पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था दुरुस्त नहीं की जाती है तो ग्रामीणों ने उग्र आंदोलन करने की बात कही।

संबंधित खबरें