DA Image
25 अक्तूबर, 2020|10:31|IST

अगली स्टोरी

मजदूरों को लेकर जाने वाली दो स्पेशल ट्रेनें रद्द, शेष पांच पर भी संशय

default image

सीमा पर सड़क बनाने के लिए दुमका-देवघर से मजदूरों को लद्दाख और उत्तराखंड ले जाने के लिए सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) को अभी राज्य सरकार से अनुमति नहीं मिल सकी है। इस कारण 4 जून को उधमपुर और 5 जून को ऋषिकेश के लिए दुमका से चलने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन रद्द हो चुकी है। गृह मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद रेलवे ने मजदूरों को ले जाने के लिए 7 स्पेशल ट्रेन चलाने की स्वीकृति देते हुए संभावित समय सारणी भी निर्धारित कर दिया था। उसमें 4 और 5 जून को चलने वाली स्पेशल ट्रेनों के रद्द होने के बाद अब 12 जून और उसके बाद चलने वाली स्पेशल ट्रेनों के चलने पर भी संशय है।

दुमका जिला प्रशासन पहले ही यह साफ कर चुका है कि राज्य सरकार की अनुमति मिलने के बाद ही मजदूरों को बाहर भेजा जा सकता है। बता दें कि बोर्डर रोड टास्क फोर्स ने मेट के माध्यम से प्रथम चरण में दुमका से 500 मजदूरों को ले जाने की तैयारी कर ली थी। इस बीच राज्य सरकार के श्रम नियोजन विभाग ने मजदूरों को झारखंड ले जाने की अनुमति देने से पहले छह बिन्दुओं पर बीआरओ का जवाब मांगा है। राज्य सरकार ने मजदूरों को ले जाने का कारण और उन्हें दी जाने वाली सारी सुविधाओं के बारे में स्पष्ट तौर पर बीआरओ से जानकारी मांगी है। बीआरओ का जवाब मिलने के बाद ही राज्य सरकार यहां से मजदूर ले जाने की अनुमति देगी। बता दें कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी भी स्पष्ट कर चुके हैं कि झारखंड के मजदूरों को अपने राज्य में ही रोजगार दिया जाए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two special trains carrying laborers canceled rest five also suspected