DA Image
17 जनवरी, 2021|7:46|IST

अगली स्टोरी

लैंडिंग से पहले हवा में ही असंतुलित हो गया था ग्लाइडर!

लैंडिंग से पहले हवा में ही असंतुलित हो गया था ग्लाइडर!

1 / 4सोमवार को दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर के क्रैश होने के कारणों का खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा पर घटनास्थल पर जो दिख रहा है, उससे साफ है कि लैंडिंग से पहले कुछ ऊंचाई पर ही ग्लाइडर असंतुलित होकर...

लैंडिंग से पहले हवा में ही असंतुलित हो गया था ग्लाइडर!

2 / 4सोमवार को दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर के क्रैश होने के कारणों का खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा पर घटनास्थल पर जो दिख रहा है, उससे साफ है कि लैंडिंग से पहले कुछ ऊंचाई पर ही ग्लाइडर असंतुलित होकर...

लैंडिंग से पहले हवा में ही असंतुलित हो गया था ग्लाइडर!

3 / 4सोमवार को दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर के क्रैश होने के कारणों का खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा पर घटनास्थल पर जो दिख रहा है, उससे साफ है कि लैंडिंग से पहले कुछ ऊंचाई पर ही ग्लाइडर असंतुलित होकर...

लैंडिंग से पहले हवा में ही असंतुलित हो गया था ग्लाइडर!

4 / 4सोमवार को दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर के क्रैश होने के कारणों का खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा पर घटनास्थल पर जो दिख रहा है, उससे साफ है कि लैंडिंग से पहले कुछ ऊंचाई पर ही ग्लाइडर असंतुलित होकर...

PreviousNext

सोमवार को दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर के क्रैश होने के कारणों का खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा पर घटनास्थल पर जो दिख रहा है, उससे साफ है कि लैंडिंग से पहले कुछ ऊंचाई पर ही ग्लाइडर असंतुलित होकर गिरने लगा था। हवाई अड्डा पर उसे रनवे पर लैंड करना था पर वह रनवे से पहले ही मैदान में चहारदिवारी से 10 फीट के अंदर गिर गया। कंटीले तार को तोड़ते हुए गिरने से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि ऊपर हवा में ही वह असंतुलित हो गया था। करीब 20 से 25 फीट के दायरे में दुर्घटनाग्रस्त ग्लाइडर का मलवा बिखर गया। माना जा रहा है कि कोई तकनीकी खराबी हो जाने के कारण ग्लाइडर असंतुलित हुआ होगा और नीचे गिरने लगा। क्या तकनीकी खराबी आई यह जांच के बाद ही पता चलेगा।

कहीं पहले से तो खराब नहीं था ग्लाइडर : ग्लाइडर पर पायलट के साथ इंजीनियर के भी उड़ान भरने को लेकर यह कयास भी लगाया जा रहा है कि कहीं गलाइडर में पहले से तो खराबी नहीं थी, जिसके टेस्ट के लिए इंजीनियर भी साथ थे। बता दें कि यह ग्लाइडर फ्लाइंग एकेडमी का था, जो प्रशिक्षण देने में उपयोग किया जाता था।

जांच से पता चलेगा सुरक्षा मानकों का कितना पालन हुआ: डीसी

उड़ान के दौरान सुरक्षा मानकों का कितना पालन किया गया, इस पर भी नगर विमानन विभाग और जिला प्रशासन का कोई अधिकारी कुछ नहीं बोल रहा है। दुमका की डीसी राजेश्वरी बी ने पत्रकारों के सवाल पर कहा कि डीजीसीए की जांच से ही पता चलेगा कि क्या तकनीकी खराबी थी और सुरक्षा मानकों कितना पालन किया गया था।

क्रैश ग्लाइडर का सेफ्टी डिप्टी डायरेक्टर ने किया निरीक्षण

दुमका में ग्लाइडर क्रैश की घटना की जांच शुरू हो गई है। मंगलवार को नागर विमानन विभाग के डीजीसीए के डिप्टी डायरेक्टर सेफ्टी एचएन मिश्रा अपनी टीम के साथ घटनास्थल दुमका हवाई अड्डा पहुंच कर जांच शुरू की। क्षतिग्रस्त ग्लाइडर के मलबा का टीम ने बारीकी से निरीक्षण किया। डिप्टी डायरेक्टर ने बताया कि उनकी टीम सबूतों एकत्रित करने का काम कर रही है। हादसा के कारणों और अन्य पहलुओं की जांच तकनीकी विशेषज्ञों की टीम करेगी। तकनीकी जांच के बाद ही हादसा के कारणों का खुलासा हो सकेगा। दुमका की डीसी राजेश्वरी बी ने घटनास्थल के निरीक्षण के बाद पत्रकारों को बताया कि डीजीसीए की उच्चस्तरीय जांच टीम मंगलवार की शाम तक दुमका पहुंच रही है। यह तकनीकी टीम बुधवार से विस्तृत जांच करेगी।

ग्लाइडर की उड़ान पर डीसी ने लगाई रोक

दुमका हवाई अड्डा पर ग्लाइडर की उड़ान पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है। सोमवार को हवाई अड्डा पर फ्लाइंग एकेडेमी के एक ग्लाइडर के क्रैश कर जाने की घटना के बाद जिला प्रशासन ने यह निर्णय लिया। दुमका की डीसी राजेश्वरी बी ने बताया कि यहां फ्लाइंग क्लब है, जहां कुछ लोग ग्लाइडर से उड़ा भरते हैं। कल के हादसे की डीजीसीए द्वारा होने वाली जांच पूरी होने तक के लिए सभी तरह की उड़ानों पर रोक लगा दी गई है। डीसी ने बताया कि केवल वीआईपी के लिए यह हवाई अड्डा अभी चालू रहेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The glider was unbalanced in the air before landing