DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बासुकीनाथ मंदिर में आज पहली बार अरघा व्यवस्था

बासुकीनाथ मंदिर में आज पहली बार अरघा व्यवस्था

1 / 4सावन की पहली सोमवारी को बासुकीनाथ में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। भीड़ को नियंत्रित रखते हुए उन्हें सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने की तैयारी प्रशासन द्वारा की गई है। पहली बार सोमवारी के अवसर...

बासुकीनाथ मंदिर में आज पहली बार अरघा व्यवस्था

2 / 4सावन की पहली सोमवारी को बासुकीनाथ में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। भीड़ को नियंत्रित रखते हुए उन्हें सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने की तैयारी प्रशासन द्वारा की गई है। पहली बार सोमवारी के अवसर...

बासुकीनाथ मंदिर में आज पहली बार अरघा व्यवस्था

3 / 4सावन की पहली सोमवारी को बासुकीनाथ में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। भीड़ को नियंत्रित रखते हुए उन्हें सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने की तैयारी प्रशासन द्वारा की गई है। पहली बार सोमवारी के अवसर...

बासुकीनाथ मंदिर में आज पहली बार अरघा व्यवस्था

4 / 4सावन की पहली सोमवारी को बासुकीनाथ में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। भीड़ को नियंत्रित रखते हुए उन्हें सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने की तैयारी प्रशासन द्वारा की गई है। पहली बार सोमवारी के अवसर...

PreviousNext

सावन की पहली सोमवारी को बासुकीनाथ में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। भीड़ को नियंत्रित रखते हुए उन्हें सुगमतापूर्वक जलार्पण कराने की तैयारी प्रशासन द्वारा की गई है। पहली बार सोमवारी के अवसर पर बासुकीनाथ मंदिर में इस वर्ष अरघा सिस्टम से जलार्पण की व्यवस्था की गई है। इधर आईजी सुमन गुप्ता ने रविवार को बासुकीनाथ में की गई सुरक्षा की व्यवस्था का जायजा लिया। उनके साथ दुमका के एसपी किशोर कौशल भी थे। उधर दुमका के डीसी मुकेश कुमार और एसडीओ राकेश कुमार ने मेला से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक कर सोमवारी की तैयारी की समीक्षा का। सावन की पहली सोमवारी को लेकर पुलिस प्रशासन की ओर से सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया है। पहली सोमवारी को बाबा बासुकीनाथ धाम में पुलिस पदाधिकारी सहित एटीएस, झारखंड जगुआर, जिला पुलिस बल के अलावे काफी संख्या में दंडाधिकारी ड्यूटी पर तैनात रहेंगे।

5 डीएसपी और 7 प्रशिक्षु डीएसपी तैनात : जरमुंडी के एसडीपीओ अनिमेश नथानी ने बासुकीनाथ धाम में सुरक्षा-व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि श्रावणी मेला की पहली सोमवारी है। सोमवारी को लेकर विधि-व्यवस्था बनाए रखने के लिए 5 डीएसपी, 7 प्रशिक्षु डीएसपी के अलावे 4 हजार पुलिस जवान,400 महिला पुलिस की तैनातगी की गई है।

ट्रैफिक नियंत्रण के लिए टीम तैनात: जरमुंडी के एसडीपीओ अनिमेश नथानी ने बताया कि ट्रैफिक व्यवस्था को नियंत्रण रखने के लिए तीन इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारियांे की टीम बनाई गई। इस टीम की निगरानी डीएसपी करेंगे।

उन्होंने बताया कि बासुकीनाथ धाम से अतिक्रमण हटाने के लिए दो इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारियों की टीम बनाई गई है। उन्होंने बताया कि बासुकीनाथ धाम से अतिक्रमण को उक्त अधिकारियों की टीम हटाएगी। ट्रैफिक व्यवस्था को नियंत्रण पर रखा जाएगा। मेला क्षेत्र से बाहर वाहनों के पार्किंग की व्यवस्था की गई है। मेला क्षेत्र में वाहन को घुसने नहीं दिया जाएगा। मेला क्षेत्र में वाहन घुसने से ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ जाएगी।

पहली सोमवारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क: बासुकीनाथ श्रावणी मेला में 28 डॉक्टरों को ड्यूटी पर लगाया गया है। 24 डॉक्टरों को बाहर से मेला में ड्यूटी करने के लिए बुलाया गया है। हालांकि अभी 12 डॉक्टर ही मेला ड्यूटी पर आए है। बाकी 12 चिकित्सक 15 दिनों के बाद आएंगे। 4 डॉक्टर दुमका जिला के है। वहीं 80 स्वास्थ्य कर्मी को मेला में प्रतिनियुक्त किया गया है। बासुकीनाथ में 20 बेडों का अस्थायी वातानुकूलित अस्पताल बनाया गया है। इस वातानुकूलित अस्पताल में 27 प्रशिक्षु नर्स तैनात रहेंगी। वहीं खाद्य पदार्थो की जांच करने के लिए मेला में एक ड्रग इंस्पेक्टर भी तैनात रहेंगे। सोमवारी को लेकर विशेष व्यवस्था बासुकीनाथ धाम में की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:For the first time in the Basukinath temple, the Argha system