DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्यशाला में बालिकाओं में खेल के प्रति रुझान बढ़ाने पर हुई चर्चा

कार्यशाला में बालिकाओं में खेल के प्रति रुझान बढ़ाने पर हुई चर्चा

एक नई दिशा की ओर से मेरी पहचान कार्यक्रम के तहत प्लस गर्ल्स स्कूल दुमका में माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक बालिकाओं को खेलकूद, कैरियर काउंसलिंग एवं सेल्फ मोटिवेशन के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। खेल भाव के तरीके से संस्था के राज कुमार ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि ज्यादातर बालिकाएं मैट्रिक करने के बाद ड्रॉप आउट होती है। इसका कारण इंटर में उचित विषयों का चुनाव नहीं करना जिसके कारण पढ़ने में रुझान घट जाता है। सरकारी सुविधाओं के बावजूद भी बालिकाओं आज खेल से दूर है। जि़ला तीरंदाजी कोच मोहन कुमार ने कहा खेल कूद से मानसिक एवं शारीरिक तथा बैद्धिक विकास होता है। खेलों में आज के समय झारखंड से बड़े बड़े खिलाड़ी निकल रहे है, इसलिए खेल में रुचि पैदा करें और राज्य के लिए मैडल लाए। वहीं कैरियर काउंसलर संतोष राही ने कहा जिस फील्ड में आप जाना चाहते है, उसी विषयों को रुचि बनाये तथा सही मार्गदर्शन के साथ आगे बड़े। मैट्रिक एवं इंटर के बाद बालिकाओं का व्यवसायिक रुझान कम हो जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Discussion on increasing trend towards girl child in workshop