DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुमका में ठंड से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त

दुमका जिला में कड़ाके की ठंड से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। ठंड के कारण लोगों के दिनचर्या में काफी परिवर्तन हो गया है। वहीं शाम होते ही लोग अपने-अपने घरों में डूबक जाते है। बुधवार को दुमका जिला का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रिकोर्ड दर्ज किया गया है। सुबह में मॉर्निंग वाक करने वालों की भी संख्या काफी कम हो गई है। ठंड से राहत देने के उद्देश्य से प्रशासन की ओर से चौक-चौराहों पर अलाव की व्यवस्था की जा रही है। अलाव की व्यवस्था किए जाने से गरीब तबके के लोगों को काफी राहत मिल रही है। वहीं मसलिया में पिछले कई दिनों से कड़ाके ठंड से आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। जानकारी के अनुसार सुबह दस बजे तक हाड़ कपा देने वाले ठंड के कारण ग्रामीण मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सुबह में लोग चाय की दुकानों में या अलाव के सहारे ठंड से बचने का प्रयास कर रहे है। जिससे काम प्रभावित होने से रोजी-रोटी पर भी असर पड़ रहा है। कड़ाके की ठंड को देखते हुए अंचल कार्यालय द्वारा प्रखण्ड क्षेत्र के मसलिया ब्लॉक चौक एवं दलाही बस स्टैंड में अलाव की व्यवस्था की गई है। वहीं झारखण्ड सरकार के कल्याण विभाग द्वारा गरीब बेसाहारा, बृद्घ, अनाथ में बंटने के लिए कुल 5481 कम्बल मसलिया प्रखण्ड को आंवटन दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Common life in cold conditions in Dumka