DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रखंडों में पोषण अभियान के तहत लगा मेला

जिला समाज कल्याण विभाग की ओर से पोषण अभियान अंतर्गत पोषण मेला का आयोजन दुमका जिला के तीन प्रखंडों दुमका सदर, जामा एवं मसलिया प्रखंड में किया गया। जिसमें तेजस्विनी परियोजना से जुड़ी किशोरी एवं युवतियों ने काफी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया एवं आयरन व कैल्शियम की गोलियां को ग्रहण किया। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी स्वेता भारती ने बताया कि तेजस्विनी परियोजना दुमका जिला के सभी प्रखंडों में चलाया जाना है। वर्तमान में दुमका सदर, जामा एवं मसलिया प्रखंडों में ही इस परियोजना का कार्य चल रहा है। शेष प्रखंडों में इसी वर्ष कार्यक्रम का संचालन किया जाना है। पोषण माह के दौरान हर दिन कोई न कोई कार्यक्रम जिला में किया जा रहा है। जिसमे अब तक पंचायती पंचसूत्र, पोषण चौपाल, नव जीवन शुभारंभ, महिला पोषण सम्मेलन इत्यादि का आयोजन केन्द्र स्तर, प्रखंड एवं जिला स्तर पर किया जा चुका है। आने वाले दिनों में इसी माह अन्नप्राशन, गौद भराई दिवस, पोषण पे चर्चा दिवस, रन झारखंड रन इत्यादि कार्यक्रम का आयोजन कर लोगों को पोषण के महव की जानकारी दी जायेगी। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि पोषण अभियान अंतर्गत जिले के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से 1 लाख किशोरी बालिकाओ व महिलाओं को आईएफए टेबलेट और कैल्शियम टेबलेट का वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है, ताकि अनीमिया नामक बीमारी से समाज मुक्त हो और जिले में पोषण की स्थिति में सुधार हो। इस पोषण मेला में जागरूकता के उद्देश्य से हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जा रहा है, जिसमें 5 लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। हस्ताक्षर अभियान में तेजस्विनी परियोजना से जुड़ी किशोरियों और महिलाएं, स्कूल के बच्चे और आजीविका मिशन से जुड़ी स्वयं सहायता समूह के सदस्य भाग लेंगे, जिसमे अबतक लगभग 1 लाख 50 हजार महिलाओं ने हस्ताक्षर कर पोषण के महत्व को समझा है। सफल संचालन के लिए जिला कार्यालय से तेजस्विनी के कार्यक्रम पदाधिकारी राजीव रंजन, स्वस्थ भारत प्रेरक अभिजीत रंजन बेसरा,डीपीओ अरूण कुमार द्विवेदी एवं विकाश भारती संस्था से विजय नायक के प्रयास काफी सराहनीय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cluster organized under nutrition campaign in blocks