Be vigilant to deal with the disaster in storm-rain - आंधी-बारिश में आपदा से निपटने के लिए सतर्क रहें DA Image
13 दिसंबर, 2019|4:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंधी-बारिश में आपदा से निपटने के लिए सतर्क रहें

उपायुक्त मुकेश कुमार ने मॉनसून के दौरान तेज आंधी-तूफान और भारी वर्षा से होने वाली आपदा से निपटने के लिए सतर्क किया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग से प्राप्त सूचना के आधार पर अगले कुछ दिनों में झारखंड में मानसून के प्रवेश करने की सूचना है। मौसम विभाग की चेतावनी के आलोक में उपायुक्त मुकेश कुमार ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी एवं सभी थाना प्रभारी को पत्र भेज कर निर्देश दिया है कि अपने अपने क्षेत्रों में निरंतर निगरानी रखें। किसी प्रकार की आपात सूचना प्राप्त होने पर तुरंत जिले के वरीय पदाधिकारियों को अवगत कराते हुए प्रभावितों को तत्कालिक रूप से उचित सहायता प्रदान करें। साथ ही प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर क्षति का आकलन करें और सहायता राशि भुगतान के लिए प्रस्ताव भेजें। बारिश एवं वज्रपात में क्षति का करें आकलन : उपायुक्त ने अपने पत्र में कहा कि तेज आंधी तूफान के साथ बारिश एवं वज्रपात होने की संभावना है। तेज आंधी तूफान एवं वज्रपात से जानमाल की गंभीर क्षति हो सकती है। विशेषकर कच्चे एवं कमजोर मकानों को काफी नुकसान पहुंचता है। ऐसे मकानों में निवास करने वाले परिवार अचानक बेघर हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में प्रभावित व्यक्तियों को तत्काल निवास के लिए उपयुक्त स्थान, भोजन एवं सहायता राशि की अत्यंत आवश्यकता पड़ती है। सभी विभाग समन्वय के साथ करेंगे काम : डीसी ने अपने पत्र में कहा है कि तेज आंधी तूफान से सड़कों पर पेड़ गिर जाने के कारण आवागमन बाधित हो जाता है। उन्होंने सभी थाना प्रभारी दुमका जिला को निर्देश दिया है कि प्रखंड विकास पदाधिकारियों के साथ समन्वय रखते हुए उपरोक्त व्यवस्थाओं में आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे। साथ ही आंधी तूफान के कारण किन्हीं पथों पर आवागमन बाधित हो गया हो तो उसे यथाशीघ्र चालू की कार्रवाई करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Be vigilant to deal with the disaster in storm-rain