DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्योहार के बाद अब गर्मी में पानी संकट को रहे तैयार

त्योहार के बाद अब गर्मी में पानी संकट का सामना करना होगा। पूरे शहर में दोनों वक्त विभाग जलापूर्ति नहीं कर पा रहा है। लोग मैथन के पानी पर निर्भर होते जा रहे है। पारा चढ़ने के साथ ही पानी की मांग बढ़ गई है। जलापूर्ति व्यवस्था चरमराई रहने के कारण लोग परेशान है। कहीं सुबह तो कहीं शाम में लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। एक सप्ताह से जलापूर्ति का समय ही गड़बड़ा हुआ है।

बिजली के कारण भी होती है संकट

मैथन तो कभी भेलाटांड़ वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में बिजली गुल रहने से पानी संकट झेलना पड़ता है। बिजली नहीं रहने पर मोटर बंद रहता है। जलमीनार नहीं भरा पाते है। बिजली मिलने पर एक वक्त समय पर पानी मिल पाएगा।

पानी के लिए परेशान रहे लोग

शनिवार को भी पानी संकट ने लोगों को परेशान किया। कहीं सुबह, दोपहर तो कहीं शाम में सप्लाई की गई। घरेलू कार्य करने के लिए लोगों को परेशान झेलनी पड़ी। मटकुरिया जलमीनार से 9.45 बजे, स्टीलगेट से 10, धनसार से 11, पुराना बाजार से 11.30, हीरापुर से 1.20 और गोल्फ ग्राउंड के जलमीनार से शाम 5.50 बजे जलापूर्ति की गई। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कंट्रोल रूम की माने तो बिजली संकट के कारण जलापूर्ति बाधित हुई। बिजली नहीं रहने से भेलाटांड़ ट्रीटमेंट प्लांट में मोटर बंद रहा।

दूसरे वक्त नहीं मिला पानी

दूसरे वक्त भूली व पुलिस लाइन जलमीनार को छोड़ कर कहीं भी जलापूर्ति नहीं हुई। गोल्फ ग्राउंड, पुराना बाजार, मनईटांड़, मटकुरिया, धोवाटांड़, गांधी नगर, भूदा, बरमसिया, धनसार, हीरापुर, चिरागोड़ा, पुलिस लाइन, पॉलीटेक्निक, हील कॉलोनी, पीएमसीएच, स्टील गेट, मेमको, वासेपुर जलमीनारों से सप्लाई बाधित हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Water crisis is ready