DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डबल डेकर की टाइमिंग पर धनबाद-हावड़ा के बीच जिच

डबल डेकर की टाइमिंग पर धनबाद-हावड़ा के बीच जिच

धनबादवासी एक बार फिर से एसी डबल डेकर के पटरी पर उतरने की राह देख रहे हैं, लेकिन डबल डेकर की टाइम-टेबल पर धनबाद रेल मंडल और हावड़ा डिवीजन में पेंच फंस गया है। धनबाद और हावड़ा डिवीजन की जिच के कारण धनबाद से पारसनाथ के बीच डबल डेकर का ट्रायल भी नहीं हो पा रहा है। यार्ड में एक सप्ताह पहले पहुंची डबल डेकर की एक बोगी ट्रायल के इंतजार में हैं।

हावड़ा रेल मंडल ने डबल डेकर को चलाने के लिए हावड़ा से सुबह 8.35 बजे का समय सुझाया है। लेकिन धनबाद रेल मंडल इस टाइमिंग को उचित नहीं मानता। धनबाद डिवीजन चाहता है कि ट्रेन हावड़ा से सुबह 5.45 बजे खुले। यदि ट्रेन सुबह 8.35 बजे खुलेगी तो ट्रेन दोपहर 12.50 बजे धनबाद और करीब दो बजे पारसनाथ पहुंचेगी, इससे तीर्थ यात्रियों का आधा दिन ऐसे ही निकल जाएगा।

इसी तरह पारसनाथ से भी ट्रेन की टाइमिंग पर दोनों रेल मंडलों की राय अलग-अलग है। धनबाद मंडल चाहता है कि डबल डेकर पारसनाथ स्टेशन से शाम पांच बजे खुले, लेकिन हावड़ा डिवीजन की राय है कि इसे शाम में और देरी से चलाई जाय। यदि ट्रेन पांच बजे खुलेगी तो रात में हावड़ा से दूसरी ट्रेन या फ्लाइट लेना आसान हो जाएगा। टाइमिंग तय नहीं होने के कारण ईसीआर मुख्यालय से इंजीनियरिंग विभाग भी ट्रेन के ट्रायल की मंजूरी नहीं दे रहा है। हेडक्वार्टर की हरी झंडी के बाद ही ट्रेन का ट्रायल किया जाएगा।

दो बार टाइम बदलने के बाद भी फ्लॉप हो गई थी डबल डेकर

टाइमिंग और अधिक किराए के कारण डबल डेकर ट्रेन धनबाद-हावड़ा रूट पर दो बार फ्लॉप हो चुकी है। पहले ट्रेन को सुबह में धनबाद से चलाया गया। बाद में इसे हावड़ा से सुबह 8.35 बजे चलाया गया। लेकिन दोनों बार यात्रियों ने ट्रेन को नकार दिया। 2016 में दुर्गा पूजा के दौरान भी तीसरी बार डबल डेकर को स्पेशल ट्रेन बनाकर धनबाद से हावड़ा के बीच चलाया गया, लेकिन दुर्गा पूजा के दौरान भी ट्रेन को यात्री नहीं मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:timing of double decker, between Dhanbad and Howrah