DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूईंफोड़ मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं की उमड़ती है भीड़

भूईंफोड़ मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं की उमड़ती है भीड़

सावन शुरू होने के साथ ही भूईंफोड़ मंदिर की रौनक दोगुनी हो गई है। जलाभिषेक करने के लिए रोजाना सैकड़ों लोग पहुंचते हैं। 200 साल से भी पुराने इस मंदिर में आपरूपी शिवलिंग है। कहा जाता है कि यहां शिवलिंग जमीन से निकला था। भूमि फोड़ कर निकलने के कारण इस मंदिर का नाम भूईंफोड़ मंदिर पड़ा।

आस्था का है केंद्र

जिले के लोगों के बीच भूईंफोड़ मंदिर आस्था का केंद्र है। बाहर से आने वाले लोग भी दर्शन के लिए रुकते है। 200 साल से अधिक से यहां पूजा होती आ रही है। सावन शुरू होते ही मंदिर में श्रद्धालुओं के आने की संख्या भी बढ़ जाती है।

61 साल पहले हुआ निर्माण

करीब 61 साल पहले मंदिर का निर्माण हुआ था। इस मंदिर में आज शिव के साथ मां दुर्गा, राधा-कृष्ण व अन्य देवी-देवताओं को प्रतिमा स्थापित हैं।

भारत सेवा श्रम करता है देखभाल

भारत सेवा श्रम के लोग ही इस मंदिर को संचालित कर रहे हैं। संघ के प्रयागात्मानंद ने बताया कि सावन के हर सोमवार को जलाभिषेक लिए भक्तों की भीड़ जुटती है। मंदिर में हर समय लोगों की भीड़ लगी रहती है। कोई यहां विवाह का आयोजन करता है तो कोई पूजा-अर्चना। सावन में भक्तों पर महादेव का आशीष बरसता है। यहां 10 हजार से अधिक श्रद्धालुओं का जुटान होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thousands of pilgrims are crowded in the Bhufodod temple