DA Image
27 सितम्बर, 2020|3:17|IST

अगली स्टोरी

शहर में अवैध वाटर कनेक्शन के खिलाफ निगम चलाएगा अभियान

default image

शहर में अवैध रूप से वाटर कनेक्शन लेकर पानी ले रहे लोगों के खिलाफ नगर निगम अभियान चलाएगा। नगर निगम ने 15 दिन के अंदर अवैध कनेक्शनधारियों को नियमानुसार शुल्क जमा कर कनेक्शन को वैध कराने का अल्टीमेटम दिया है।

नगर आयुक्त सत्येंद्र कुमार ने अवैध वाटर कनेक्शन के खिलाफ अभियान को लेकर टीम गठन करने का निर्देश दिया है। यह टीम अंचलवार जांच कर अवैध कनेक्शनधारियों की सूची तैयार करेगी। निगम की ओर से अवैध कनेक्शनधारियों को अपना कनेक्शन वैध बनाने का भी मौका दिया जा रहा है। सरकार द्वारा तय शुल्क को जमा कर वह अपना कनेक्शन वैध बना सकते हैं। ऐसी स्थिति में वह जुर्माने से बच जाएंगे। लेकिन जांच के क्रम में अगर वाटर कनेक्शन का कागज नहीं दिखा पाए तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। पेनाल्टी भी वसूली जाएगी।

धनबाद में 25 हजार से अधिक अवैध कनेक्शन

धनबाद में 25 हजार से अधिक अवैध वाटर कनेक्शनधारी हैं। नगर निगम के प्लंबर और पार्षद की मिलीभगत से अवैध कनेक्शन का खेल चलता है। नगर क्षेत्र में 75 हजार हाउस होल्ड हैं, जिसमें मात्र 34 हजार ने ही वाटर कनेक्शन ले रखा है।

वाटर कनेक्शन का कितना लगता है शुल्क

वाटर कनेक्शन के लिए घरेलू उपभोक्ताओं को चार हजार रुपए शुल्क जमा करना पड़ता है। वहीं गरीबी रेखा से नीचे वालों के लिए कोई शुल्क नहीं लगता है। लेकिन मासिक शुल्क क्षेत्रफल के हिसाब लगता है।

निर्मित क्षेत्र (वर्गफीट में) मासिक शुल्क

0-500 130 रुपए

501-1000 163 रुपए

1001-2000 358 रुपए

2001 से अधिक 533 रुपए

अपार्टमेंट 325/प्रति फ्लैट

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The corporation will campaign against illegal water connections in the city