DA Image
30 मई, 2020|2:27|IST

अगली स्टोरी

बड़े होटलों में झूले ताले, लॉज में फंसे हैं कई परदेशी

बड़े होटलों में झूले ताले, लॉज में फंसे हैं कई परदेशी

1 / 2कोरोना की चेतवानी के कारण धनबाद शहर के सभी होटलों में सोमवार को ताले झूल गए। बड़े होटलों में ठहरे लोगों ने या तो कमरे छोड़ दिए या फिर उनसे रूम छोड़ने की अपील कर कमरों को खाली कराया...

बड़े होटलों में झूले ताले, लॉज में फंसे हैं कई परदेशी

2 / 2कोरोना की चेतवानी के कारण धनबाद शहर के सभी होटलों में सोमवार को ताले झूल गए। बड़े होटलों में ठहरे लोगों ने या तो कमरे छोड़ दिए या फिर उनसे रूम छोड़ने की अपील कर कमरों को खाली कराया...

PreviousNext

कोरोना की चेतवानी के कारण धनबाद शहर के सभी होटलों में सोमवार को ताले झूल गए। बड़े होटलों में ठहरे लोगों ने या तो कमरे छोड़ दिए या फिर उनसे रूम छोड़ने की अपील कर कमरों को खाली कराया गया। इधर धनबाद स्टेशन के बगल में श्रमिक चौक पर स्थित लॉज में अभी भी कई परदेसी फंसे हुए हैं। अपने-अपने काम से यहां आए लोग ट्रेन और बस सेवा बंद होने के कारण होटलों के कमरों में रहने को विवश हैं। खाने-पीने में भी उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

लॉक डाउन से पूर्व ही सोनेटल, स्काईलार्क, ब्लैक रॉक व कुकुन जैसे होटल खाली करा लिए गए थे। इन होटलों के किचन और रेस्टोरेंट को भी बंद करा दिया गया है। लेकिन छोटे होटल व लॉज की स्थिति ऐसी नहीं है। मुंबई के गोरेगांव से यहां आए दिलशाद और मुजकिर श्रमिक चौक के बगल के स्वास्तिक लॉज में ठहरे हुए हैं। एक साइनएज कंपनी में कार्यरत दोनों सोमवार की दोपहर स्टेशन पर मुंबई जानेवाली ट्रेन का पता लगाने आए थे। उन्हें रेलकर्मियों ने बताया कि 31 मार्च तक धनबाद से कोई ट्रेन नहीं चल रही है। इसके बाद दोनों निराश होकर लौट गए। दिलशाद और मुजकिर ने बताया कि उनकी कंपनी ने धनबाद में 15 दिनों का काम लिया था। मुंबई मेल से ही कंपनी का माल भी आया था लेकिन यहां पार्सल नहीं उतर सका। अब ट्रेन ही बंद कर दी गई। वे लोग फंस गए हैं। इन दोनों की तरह श्रमिक चौक के बगल में स्थित धनबाद गेस्ट हाउस में छह लोग, ए वन लॉज में चार लोग, राणा में दो लोग फंसे हैं। ये सभी राजस्थान, गुजरात, हरियाणा, दिल्ली और बिहार के हैं। हालांकि श्रमिक चौक के बगल में भी कई लॉज ऐसे हैं जिन्हें यात्रियों के लिए बंद कर दिया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Swing locks in big hotels many foreigners are trapped in lodges