DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस को नहीं मालूम सकलदेव को किसने मारी गोली

सकलदेव सिंह हत्याकांड में लगातार दूसरे दिन बचाव पक्ष ने आईओ से प्रतिपरीक्षण किया। मंगलवार से ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश सप्तम रिजवान अहमद की कोर्ट में आईओ विनोद कुमार सिंह की गवाही हो रही थी। मामले में रामधीर सिंह और पिंटू सिंह ट्रायल फेस कर रहे हैं।

रामधीर सिंह की ओर से बचाव पक्ष के अधिवक्ता अनूप कुमार सिन्हा और अभय कुमार सिन्हा ने आईओ से हत्याकांड के षड़यंत्र में रामधीर सिंह की भूमिका के संबंध में पूछा। बचाव पक्ष के सवालों का जवाब देते हुए आईओ ने कोर्ट को बताया कि कितने तारीख को कब और कहां षड़यंत्र रची गई और षड़यंत्र में कौन-कौन लोग शामिल थे, इसका केस डायरी में उल्लेख नहीं किया गया है। गवाह सकलदेव सिंह के बेटे रणविजय सिंह और मनोज सिंह ने अनुसंधान के दौरान उन्हें ऐसा नहीं बताया था कि रामाधीर सिंह ने जेल में सकलदेव सिंह की हत्या की योजना बनाई थी। सकलदेव सिंह की हत्या किस शूटर ने की तथा शूटर कौन थे इसका भी खुलासा नहीं हो पाया। बुधवार को रामधीर सिंह की ओर से बचाव पक्ष की जिरह पूरी हो गई। अब पिंटू सिंह की ओर से बचाव पक्ष के अधिवक्ता को आईओ के प्रतिपरीक्षण के लिए कोर्ट ने चार जून की तिथि तय की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police do not know who shot sakaldev