DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  धनबाद  ›  पीएमसीएच में 15 सीटों पर होगी पीजी की पढ़ाई
धनबाद

पीएमसीएच में 15 सीटों पर होगी पीजी की पढ़ाई

हिन्दुस्तान टीम,धनबादPublished By: Newswrap
Fri, 23 Feb 2018 02:05 AM
पीएमसीएच में 15 सीटों पर होगी पीजी की पढ़ाई

कोयलांचल विश्वविद्यालय में पीएमसीएच को पीजी की पढ़ाई शुरू करने के लिए एफिलिएशन देने में असमर्थता जता दिया। इसके लिए पीएमसीएच बंदर ने एक बार फिर बिनोवा भावे विश्वविद्यालय का दरवाजा खटखटाया है। विनोबा भावे से इसकी प्रक्रिया काफी आगे भी बढ़ गई है। पीएमसीएच प्रबंधन की माने तो उन्हें तीन विषयों में 15 सीटों पर पीजी की पढ़ाई के अनुमति मिलेगी। हालांकि  आखिरी निर्णय विश्वविद्यालय की टीम के दौरे के बाद होगा। टीम इसी माह के अंत तक पीएमसीएच के दौरे पर आएगी।पीएमसीएच अधिकारियों के अनुसार कॉलेज गायनोकॉलोजी, एनेस्थेसिया और पैथोलॉजी में पीजी की पढ़ाई के लिए  सक्षम है । इन्हीं तीनों विभागों में  पीजी की पढ़ाई के लिए यूनिट बन पा रहा है। ऐसे बनता है यूनिटएक प्रोफेसर, एक असिस्टेंट प्रोफेसर और एक एसोसिएट प्रोफेसर को मिलाकर पीजी की पढ़ाई के लिए एक यूनिट बनता है। पीजी की मान्यता उन्हीं विभागों को मिलती है जिसमें कम से कम एक यूनिट तैयार हो रहा हो। शर्त ये भी है कि असिस्टेंट और एसोसिएट प्रोफेसर कम से कम 5 वर्ष का अनुभव हो। पीएमसीएच के सिर्फ गायनोकॉलोजी एनेस्थीसिया और पैथोलॉजी में यह यूनिट बन रहा है। इसलिए इन्हीं तीनों विभागों को पीजी पढ़ाई की अनुमति मिलने की उम्मीद है।ऐसे मिलती हैं सीटेंयूनिट बनने के बाद एक प्रोफेसर को पीजी के लिए तीन सीट मिलता है। वहीं दो सीट को  असिस्टेंट प्रोफेसर को मिलता है। इस हिसाब से एक यूनिट पर पांच सीट मिलता है। पीएमसीएच के तीन विभागों में पीजी के लिए कुल 15 सीटें बन पा रही हैं।वर्जनपीएमसीएच में पीजी की पढ़ाई शुरू करवाने के लिए प्रयास चल रहे हैं। कॉलेज की ओर से विश्वविद्यालय की टीम को निरीक्षण के लिए आमंत्रित किया गया है। वर्तमान परिस्थितियों में हम लोग तीन विषयों में पीजी की पढ़ाई शुरू करवा सकते हैं। डॉ अरुण कुमार, प्राचार्य पीएमसीएच

संबंधित खबरें