ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड धनबादग्रेडिंग के फेर में फंस सकता है पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक

ग्रेडिंग के फेर में फंस सकता है पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक

राजमहल और कुछ बिहार के इलाके में पसरा पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक में कोयले की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहा...

ग्रेडिंग के फेर में फंस सकता है पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,धनबादFri, 17 May 2019 02:43 AM
ऐप पर पढ़ें

राजमहल और कुछ बिहार के इलाके में पसरा पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक में कोयले की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहा है। बीसीसीएल अंदरखाने मिली सूचना के अनुसार अच्छे किस्म का कोयला नहीं है। कोयले की गुणवत्ता की जांच के लिए अध्ययन किया जा रहा है। जी 13-14 ग्रेड का कोयला होने का अनुमान है। यदि कोयला बेहतर किस्म का नहीं हुआ तो खनन घाटे का सौदा हो सकता है। ऐसी स्थिति में कंपनी हाथ पीछे खींच सकती है। हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर इस बाबत कुछ नहीं कहा जा रहा है।

कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी ने संकेत दिया कि मुनाफा नहीं होगा तो खनन से फायदा नहीं है। फिलहाल उक्त कोल ब्लॉक के लिए भूमि अधिग्रहण की बात चल रही है। अन्य प्रक्रिया को पूरा करने के लिए सीएमपीडीआईएल भी काम कर रही है।

मालूम हो भागलपुर में गंगा किनारे पीरपैंती से लेकर गोड्डा के महगामा तक फैले पीरपैंती-बाराहाट कोल ब्लॉक दो साल पहले बीसीसीएल को आवंटित किया गया है। इस प्रोजेक्ट में बड़े पैमाने पर कोल रिजर्व है। वैसे गुणवत्ता को लेकर सवाल उठ रहे हैं। कोल ब्लॉक शुरू होने से बड़े पैमाने पर रोजगार मिलने की संभावना है।

पीरपैंती-बाराहाट कोल परियोजना में गोड्डा व भागलपुर का हिस्सा शामिल है। इस प्रोजेक्ट का विस्तार भागलपुर के कहलगांव क्षेत्र अंतर्गत मिर्जापुर व मंदार पर्वत से गोड्डा के बुलिया नॉर्थ तक फैला है।