DA Image
2 मार्च, 2021|11:30|IST

अगली स्टोरी

अब आपके मोबाइल में रहेगा पर वोटर आई कार्ड

default image

धनबाद मुख्य संवाददाता

मोबाइल व कंप्यूटर का एक बटन दबाते ही फोटो युक्त वोटर आई कार्ड (इपिक) अब आपके सामने होगा। न इसे संभाल कर रखने का झंझट और न ही इसके खो जाने का भय। यह सब ई-इपिक योजना से होगा। इसकी शुरुआत 25 जनवरी (राष्ट्रीय मतदाता दिवस) से होगी। जिला प्रशासन की ओर से इसकी तैयारी की जा रही है।

कैसे काम करेगा

ई-इपिक सॉफ्टवेयर तैयार किया जा रहा है। सॉफ्टवेयर की लांचिंग के साथ ही कोई भी इसे अपने मोबाइल या दूसरे इलेक्ट्रानिक गैजेट जैसे कंप्यूटर, लैपटॉप आदि पर डाउन कर सकता है। इस सॉफ्टवेयर के सहारे अपना-अपना फोटोयुक्त वोटर आईकार्ड डाउन लोड कर सकता है। इसमें दो क्यूआर कोड भी दिया रहेगा। पहले क्यूआर कोड की स्कैनिंग के साथ वोटर से संबंधित स्टैटिक डाटा जैसे जिला, जनसंख्या, फोटो आदि की जानकारी मिलेगी। दूसरे क्यूआर कोर्ड की स्कैनिंग के साथ विधानसभा क्षेत्र का नाम, विधानसभा क्षेत्र की भाग संख्या वोटर क्रमांक तथा दूसरी जानकारी रहेगी। इसे डाउनलोड कर कहीं से भी प्रिंट हासिल किया जा सकता है।

क्यूआर कोड के आधार पर ही होगी पहचान

फोटोयुक्त वोटर आई कार्ड के प्रिंट लेने पर उसमें क्यूआर कोड भी रहेगा। इसी क्यूआर कोड से फोटोयुक्त वोटर आई कार्ड के गलत व सही होने की पहचान होगी।

क्या होगा फायदा

- मोबाइल के सहारे की इपिक का कर सकेंगे इस्तेमाल

- गुम जाने का नहीं रहेगा भय

- बार-बार सरकारी दफ्तरों की भाग-दौड़ से मिलेगी निजात

- कहीं व कभी भी ई-इपिक पोर्टल का सहारा लेकर वोटर आई कार्ड डाउनलोड किया जा सकता है

ई-इपिक की तैयारी की जा रही है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर इसकी शुरुआत होगी। यह बहुत ही उपयोगी है। इसका इस्तेमाल वोटर पहचान पत्र के रूप में भी किया जाएगा। कई परेशानियों से वोटर को निजात मिलेगी।

- मृत्युंजय मिश्रा, सब इलेक्शन ऑफिसर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Now your mobile will be on the voter card