DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौ साल बाद नंबर गेम फिर से शुरू

नौ साल के बाद सीबीएसई स्कूलों में 10वीं बोर्ड परीक्षा में एक बार फिर से नंबरों की होड़ शुरू हो गई। मंगलवार को सीबीएसई ने 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया। सभी स्कूलों में नंबर के आधार पर फर्स्ट, सेकेंड, थर्ड अन्य स्कूल टॉपर की घोषणा कर दी। बताते चलें कि वर्ष 2009 में सीजीपीए सिस्टम लागू किया गया था। इसके पीछे सीबीएसई ने यह तर्क दिया था कि नंबरों के कारण बच्चे तनाव में रहते हैं। कई छात्र-छात्राएं अनावश्यक कदम उठा लेते हैं। बच्चों को तनाव से मुक्ति के लिए सीबीएसई ने सीजीपीए सिस्टम शुरू किया लेकिन वर्ष 2009 से वर्ष 2017 तक मिले फीडबैक में यह बातें सामने आई की छात्रों की रुचि पढ़ाई में खत्म हो रही है। उसके बाद केन्द्र सरकार ने वर्ष 2017 में सीजीपीए व ग्रेडिंग सिस्टम को वर्ष 2018 से खत्म करने की घोषणा कर दी। होम बेस्ड बोर्ड परीक्षा का विकल्प भी खत्म कर दिया। शहर के कई प्राचार्यों व शिक्षकों का कहना है कि वर्तमान समय में जरूरी है कि बच्चे प्रतियोगिता परीक्षा के लिए तैयार रहें लेकिन सीजीपीए सिस्टम में स्कूल से पर्याप्त नंबर मिलने के कारण रुचि नहीं जगा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nine years later, number games resume