DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीरज सिंह हत्याकांड में फिर नहीं हो पाया आरोप गठन

पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की सरेआम गोली मारकर हत्या कर देने के मामले में फिर विधायक संजीव सिंह समेत 10 लोगों के खिलाफ अदालत में आरोप गठन नहीं हो सका। जिला एवं सत्र न्यायाधीश सप्तम सत्यप्रकाश की अदालत ने आरोप गठन की बिंदु पर सुनवाई की अगली तारीख छह जनवरी तय की है।

इधर हत्याकांड का एक आरोपी विनोद सिंह की जमानत अर्जी पर शुक्रवार को सुनवाई पूरी हुई। अदालत ने अभियुक्त विनोद सिंह की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया है।

अदालत में शुक्रवार को दो आरोप पत्र के कुल 10 अभियुक्तों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेश किया गया। अभियुक्तों के खिलाफ अदालत में मामला आरोप गठन के लिए पूर्व से निर्धारित था। झारखंड उच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में अभियुक्त संजय सिंह को शेष बचे पुलिस पेपर उपलब्ध कराया गया। विधायक संजीव सिंह की ओर से भी अदालत में प्रार्थना की गई कि उन्हें पूरा पुलिस पेपर नहीं मिल पाया है इसके लिए उनकी ओर से पूर्व में ही अदालत के समक्ष आवेदन दिया गया है। संजीव सिंह के आवेदन पर कोई आदेश पारित नहीं किया गया।

पुलिस द्वारा इस मामले में अब तक तीन आरोपपत्र दाखिल किए गए हैं जिनमें से दो आरोपपत्र अभियुक्तों के खिलाफ इसी अदालत में ट्रायल चल रहा है जबकि एक अभियुक्त पंकज सिंह के खिलाफ दाखिल आरोप पत्र में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत द्वारा संज्ञान लिया जाना है। पहले आरोपपत्र में अभियुक्त संजीव सिंह, जैनेंद्र कुमार सिंह उर्फ पिंटू सिंह, रणधीर धनंजय कुमार उर्फ धनजी, संजय सिंह, डब्लू मिश्रा उर्फ राकेश कुमार मिश्रा उर्फ डब्लू गिरी उर्फ मृत्युंजय गिरी तथा अमन सिंह शामिल है जबकि दूसरे आरोपपत्र में सोनू उर्फ कुर्बान अली, रोहित सिंह उर्फ चंदन सिंह उर्फ सतीश, सागर सिंह उर्फ शिबू तथा विनोद सिंह ट्रायल फेस कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Neeraj Singh murder case could not be re- charge formation