DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड धनबादट्रेन से मार्बल कारोबारी के कोलकाता जाने का शक

ट्रेन से मार्बल कारोबारी के कोलकाता जाने का शक

हिन्दुस्तान टीम,धनबादNewswrap
Thu, 28 Oct 2021 03:41 AM
ट्रेन से मार्बल कारोबारी के कोलकाता जाने का शक

धनबाद। धनबाद के जाने-माने मार्बल कारोबारी घनश्याम अग्रवाल उर्फ घनश्याम मित्तल की गुमशुदगी के 30 घंटे से अधिक समय बीतने के बाद भी परिजन या पुलिस को उनकी जानकारी नहीं मिल सकी है। पुलिस आशंका जता रही है कि मंगलवार की शाम घनश्याम धनबाद रेलवे स्टेशन से ब्लैक डायमंड ट्रेन में सवार होकर कोलकाता गए हैं। हीरापुर ज्ञान मुखर्जी रोड स्थित मित्तल हाउस में रहनेवाले घनश्याम के कोलकाता जाने का संदेह इसलिए गहरा रहा है, क्योंकि उन्होंने मंगलवार की दोपहर सवा तीन बजे रेलवे रिजर्वेशन ऑफिस के एक सुपरवाइजर से कोलकाता जाने की ट्रेन के संबंध में जानकारी ली थी। मोबाइल कॉल डिटेल्स के आधार पर बुधवार को पुलिस ने उस रेलकर्मी से पूछताछ की। रेल कर्मचारी ने बताया कि उन्होंने घनश्याम को बताया था कि वे ब्लैक डायमंड से कोलकाता जा सकते हैं। शाम पौने चार बजे तक करंट काउंटर से उन्हें टिकट लेना होगा। अंतिम चार्ट बनने के बाद वे रिजर्वेशन टिकट नहीं ले पाएंगे। पुलिस जांच में कारोबारी का अंतिम मोबाइल लोकेशन भी धनबाद स्टेशन पर ही मिला था। साथ ही उन्हें किसी ने स्टेशन पर भी देखा था। पुलिस टीम ने धनबाद स्टेशन के सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की। उनके मोबाइल सीडीआर से खुलासा हुआ है कि धनबाद छोड़ने से पूर्व उन्होंने मोबाइल पर अपनी पत्नी से भी बातचीत की थी। पति-पत्नी के बीच क्या बातें हुईं, इसपर पुलिस कुछ नहीं बता पा रही है। पुलिस घनश्याम के अगवा होने या फिर किसी अनहोनी से साफ तौर पर इनकार कर रही है। पुलिस का दावा है कि वे अपनी मर्जी से कहीं गए हैं। उनका मोबाइल बुधवार को भी ऑफ था, इसलिए उनके लोकेशन की जानकारी नहीं मिल सकी।

खुली रहीं घनश्याम की दुकानें, घरवाले भी लगा रहे पता: घनश्याम की गुमशुदगी के बावजूद बुधवार को उनकी दुकानें खुली रहीं। हालांकि घरवाले अपने स्तर से भी घनश्याम के संबंध में जानकारी जुटा रहे हैं। मंगलवार को धैया के मार्बल व सैनिटरी की दुकान से वे दोपहर में निकले थे। रात नौ बजे तक वापस नहीं लौटने पर उनके भतीजे विकास ने पुलिस को जानकारी दी थी। घनश्याम और उनके परिवार की धनबाद में श्रीनाथ मार्बल, फाइन मार्बल और बालाजी मार्बल दुकानें हैं। झारखंड के दूसरे जिलों में भी मार्बल का कारोबार फैला है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें