DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैथन का मोटर रहा बंद, पानी को तरसे लोग

मैथन में मोटर बंद रहने के कारण शहर की चार जलमीनारों से सप्लाई नहीं हुई। हीरापुर, चीरागोरा, भूली, पॉलीटेक्निक जलमीनार क्षेत्र के 80 हजार से अधिक की आबादी को पानी के लिए पानी को तरसना पड़ा। लोग पानी के लिए इंतजार करते रह गए। कंट्रोल रूम की मानें तो मैथन ने बिजली गुल रहने के कारण दोपहर 2 बजे मोटर बंद हो गया। भेलाटांड़ वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में पानी आना बंद हो गया। शाम 5 बजे मोटर चालू किया गया लेकिन रात 8 बजे तक पानी प्लांट में नहीं पहुंचा। इसके कारण सप्लाई बाधित हुई।

एक वक्त भी पूरे शहर को पानी नहीं मिलने के कारण दूसरे वक्त कहीं भी सप्लाई नहीं हो पाई। शहर की 19 जलमीनार सूखी ही रह गई। सप्लाई से संबंधित जानकारी के लिए कॉल सेंटर का फोन बजता रहा। सोमवार को सप्लाई होने की बात कही गई।

आज भी होगी संकट

देर रात तक पानी पहुंचने का असर सोमवार की जलापूर्ति पर भी पड़ेगा। सुबह में कई जलमीनारों से सप्लाई नहीं हो पाएगी। कहीं सुबह, दोपहर तो कहीं रात में सप्लाई हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Maithon's motoring stopped, people craving water