DA Image
24 नवंबर, 2020|7:06|IST

अगली स्टोरी

स्थानीय उत्पादों के लिए मुखर होना जरूरी

default image

आईआईटी आईएसएम में शनिवार को आत्मनिर्भर भारत, मेक इन इंडिया एंड वोकल फोर लोकल विषय पर आयोजित ऑनलाइन डायलॉग सीरीज में वक्ताओं ने कहा कि स्थानीय उत्पादों के लिए मुखर होना जरूरी है। डीन इरा प्रो. धीरज कुमार व प्रो. अजीत कुमार ने कहा कि हमें अपने स्थानीय उत्पादों की सराहना करनी चाहिए। यदि हम ऐसा नहीं करते हैं तो हमारे उत्पादों को बेहतर करने का अवसर नहीं मिलेगा और उन्हें प्रोत्साहन नहीं मिलेगा। नरेश वशिष्ट सेंटर फॉर टिंकरिंग इनोवेशन धनबाद की ओर से डायलॉग सीरीज की तीसरी कड़ी का आयोजन किया गया।

प्रो. अजीत कुमार ने कहा कि कुछ महीने पहले हम एन 95 मास्क, पीपीई किट और वेंटिलेटर आयात करते थे। आज भारत न केवल अपनी जरूरतों को पूरा कर रहा है, बल्कि अन्य देशों की मदद के लिए भी आगे बढ़ा है। उन्होंने इंजीनियरों से आत्मनिर्भर होने के लिए इनक्यूबेटिंग, इनोवेशन और मैन्युफैक्चरिंग कल्चर पर जोर दिया। इस मौके पर प्रो. पंकज मिश्रा, प्रो. ताराचंद आमगोठ, निर्मल्या वसु समेत अन्य ने संबोधित किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Local products need to be assertive