DA Image
28 नवंबर, 2020|1:13|IST

अगली स्टोरी

रिश्वतखोरी का आरोपी हल्का कर्मचारी को तीन वर्ष का कैद

default image

रिश्वतखोरी का आरोपी गिरिडीह नगर प्रखंड का हल्का कर्मचारी तेजो हांसदा को निगरानी की विशेष अदालत ने शुक्रवार को दोषी करार देते हुए तीन वर्ष कैद की सजा सुनाई है। निगरानी के विशेष न्यायाधीश अजय कुमार सिंह की अदालत ने अभियुक्त तेजो हांसदा को जुर्माना के तौर पर भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की दो धाराओं में कुल ढाई लाख आर्थिक जुर्माने की भी सजा दी है। सजा के बाद अपील के लिए एक माह की जमानत पर मुक्त करने का निर्देश दिया गया। अभियुक्त तेजो हांसदा के खिलाफ निगरानी टीम द्वारा 15 मई 2010 को प्राथमिकी दर्ज की गई थी। निगरानी टीम उसे चार हजार रुपए रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। निगरानी थाना में कानन किस्कू द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराते हुए आरोप लगाया गया था कि उसके पिता की मृत्यु के बाद जमीन की दाखिल खारिज कराने के एवज में आरोपी द्वारा उससे चार हजार रुपए बतौर रिश्वत की मांग की गई थी। निगरानी थाना द्वारा 12 जुलाई 2010 को आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया था। विशेष अभियोजक निगरानी अनिल कुमार सिंह की ओर से इस मामले में कुल दस गवाहों की गवाही कराई गई थी। अदालत ने आरोपी तेजो हांसदा को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धारा 7 एवं 13 में दोषी करार देते हुए अलग-अलग सजा सुनाई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Light employee accused of bribery imprisoned for three years